उत्तराखंड में ग्लेशियर टूटा – रेस्क्यू में जुटी सेना ने 384 को बचाया, 8 शव बरामद

जो बिडेन को अमेरिका की भलाई के लिए अब भारत की सहायता के लिए आना चाहिए
Share

नई दिल्ली (एजेंसी)। देश में कोविड के बढ़ते मामले सभी के लिए चिंता का विषय बन चुके हैं। हालात को देखते हुए सरकार ने शनिवार को कोविड वैक्सीन्स, ऑक्सिजन और ऑक्सिजन सबंधी इक्विपमेंट के आयात पर बेसिक कस्टम और ड्यूटी हेल्थ सेस से छूट देने का फैसला किया है। हालांकि यह छूट केवल तीन माह के लिए होगी। सरकार ने भारत में इन प्रॉडक्ट्स की उपलब्धता बढ़ाने के लिए यह फैसला किया है।

कोविड वैक्सीन्स, ऑक्सिजन और ऑक्सिजन सबंधी इक्विपमेंट पर बेसिक कस्टम ड्यूटी से तीन माह तक छूट देने का फैसला, देश में ऑक्सिजन की आपूर्ति बढ़ाने के उपायों पर प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी की अध्यक्षता में हुई उच्च स्तरीय बैठक में लिया गया। सरकार ने एक बयान जारी कर कहा कि पीएम मोदी ने देश में मेडिकल ग्रेड ऑक्सिजन की सप्लाई और अस्पतालों व घरों दोनों में मरीज की देखभाल के लिए जरूरी इक्विपमेंट बढ़ाने की तत्काल जरूरत पर जोर दिया।

अवरोध रहित और जल्द कस्टम क्लियरेंस सुनिश्चित करने का निर्देश

बयान में आगे कहा गया कि पीएम मोदी ने यह भी कहा है कि सभी मंत्रालयों और विभागों को एक साथ मिलकर देश में ऑक्सिजन और मेडिकल सप्लाई बढ़ाने के लिए काम करने की जरूरत है। बैठक के दौरान पीएम मोदी ने राजस्व विभाग को निर्देश दिया है कि विभाग कोविड वैक्सीन्स, ऑक्सिजन और ऑक्सिजन सबंधी इक्विपमेंट  का अवरोध रहित और जल्द कस्टम क्लियरेंस सुनिश्चित करे।

सरकार ने कोशिशें की हैं तेज

भारत में इस वक्त ऑक्सिजन की बेहद ज्यादा किल्लत चल रही है। दिल्ली, महाराष्ट्र, मध्य प्रदेश समेत कई जगहों पर हॉस्पिटल्स में मरीजों को ऑक्सिजन मुहैया नहीं हो पा रही है। जो मरीज घर पर आइसोलेट हैं, उनके लिए भी ऑक्सिजन सिलेंडरों की कमी है। अब ऑक्सीजन कसन्ट्रेटर की भी कमी पैदा हो रही है। ऑक्सिजन की कमी की वजह से कई मरीजों को जान गंवानी पड़ी है और कइयों के जीवन पर संकट छाया हुआ है। देश के विभिन्न हिस्सों में ऑक्सिजन की कमी को दूर करने के लिए सरकार ने कोशिशें तेज कर दी हैं। राज्यों को ऑक्सिजन की सप्लाई के लिए विशेष ऑक्सिजन एक्सप्रेस ट्रेन चलाई गई है।

एनटीपीसी समेत सभी कंस्ट्रक्शन के काम रोके गए

मुख्यमंत्री तीरथ सिंह रावत ने कहा है कि नीती घाटी के सुमना में ग्लेशियर टूटने की सूचना मिली है। मैंने एलर्ट जारी कर दिया है। मैं निरंतर जिला प्रशासन और बीआरओ के सम्पर्क में हूं। जिला प्रशासन को मामले की पूरी जानकारी प्राप्त करने के निर्देश दे दिए हैं। एनटीपीसी एवं अन्य परियोजनाओं में रात के समय काम रोकने के आदेश दे दिए हैं, ताकि कोई अप्रिय घटना ना होने पाये।


Share