पायलट के अधीन रहे पीडब्ल्यूडी में गहलोत की बड़ी ‘प्रशासनिक सर्जरी

पायलट के अधीन रहे पीडब्ल्यूडी में गहलोत की बड़ी 'प्रशासनिक सर्जरी
Share

जयपुर (कार्यालय संवाददाता)। राजस्थान में सियासी संकट थमने के बाद मुख्यमंत्री बदलने की मांग करने वाले पूर्व उपमुख्यमंत्री सचिन पायलट के अधीन रहे पीडब्ल्यूडी में तबादलों पर बैन होने के बावजूद कई फेरबदल कर दिए है। राज्य सरकार ने अलग-अलग कई सूचियां जारी कर 11 अतिरिक्त मुख्य अभियंता और 122 एक्सईएन-जेईएन समेत कुल 140 अधिकारियों का तबादला कर दिया है। ऐसे में गहलोत के इस कदम को सचिन पायलट की ताकत को और कम करने की कोशिश के तौर पर देखा जा रहा है।

सीएमओ के निर्देश पर पीडब्ल्यूडी विभाग में ये तबादले किये गये हैं. इससे पहले सचिन पायलट के निर्वाचन क्षेत्र टोंक में कलेक्टर-एसपी को छोड़कर अन्य सभी विभागों के अफसर बदल दिए गये थे।

बता दें कि पीडब्ल्यूडी विभाग की तबादला सूचियों में 11 अतिरिक्त मुख्य अभियंता, 34 एक्सईएन, 48 अधीक्षण अभियंता, 40 जेईएन-एई और 7 सहायक कर्मचारी शामिल हैं। पीडब्ल्यूडी कर्मचारियों का तबादला यूं ही नहीं हुआ। इसके लिए विधायक काफी लंबे समय से मांग उठा रहे थे। सरकार ने विधायकों को खुश करने की कवायद के तहत ही तबादले किये है।

दरअसल, बाड़ाबंदी के दौरान विधायकों ने अफसरों द्वारा उनकी बात न सुनने की मुख्यमंत्री अशोक गहलोत से शिकायत की थी। इसके बाद इन्हें बदलने के लिए विधायकों ने आग्रह किया था। राजस्थान कांग्रेस के संगठन को व्यवस्थित करने के लिए पार्टी में तीन लोगों की कमेटी बनाई गई है। इसके जरिए ही प्रदेश कार्यकारिणी में फिर से नियुक्तियां की जानी हैं। हालांकि, हाल ही में गहलोत और पायलट के बीच जो तनाव पैदा हुआ था उससे यह काम बिल्कुल भी आसान नहीं होगा।


Share