कांग्रेस की रैली सफल बनाने गहलोत ने हाथ में ली कमान, मंत्रिपरिषद और पीसीसी की बैठक में दिए टारगेट

Share

जयपुर (कार्यालय संवाददाता)। कांग्रेस की 12 दिसंबर को जयपुर में प्रस्तावित महंगाई हटाओ रैली को सफल बनाने के लिए पार्टी ने पूरा जोर लगा दिया है। मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने इसकी कमान अपने हाथ में ली है। यही कारण है कि लगातार बैठकों का दौर चल रहा है। गहलोत ने आज पहले मंत्रिपरिषद और उसके बाद पीसीसी में संगठन के पदाधिकारियों की अहम बैठक ली। इसमें मंत्री, विधायकों और संगठन के पदाधिकारियों को भीड़ जुटाने के टारगेट दिए गए। सीएम आवास पर हुई मंत्रिपरिषद की बैठक में मंत्रियों को प्रभार वाले जिलों का दौरा करने और ज्यादा से ज्यादा भीड़ लाने का लक्ष्य दिया गया। इसके बाद माना जा रहा है कि दो से तीन दिन में मंत्री जिलों के दौरे पर रवाना होंगे। वहीं पीसीसी में हुई बैठक में विधायकों और संगठन के पदाधिकारियों के साथ मंथन किया गया। इसमें नवनियुक्त जिला अध्यक्षों को भी जिम्मेदारियां दी गई। इस दौरान कांग्रेस महासचिव केसी वेणुगोपाल, प्रदेश प्रभारी अजय माकन, पीसीसी चीफ गोविन्द सिंह डोटासरा और सचिन पायलट ने रैली के राष्ट्रीय महत्व को बताते हुए इसको सफल बनाने पर जोर दिया। उन्होंने बताया कि पूरे देश की निगाह इस रैली पर है। (शेष पेज 8 पर)

ऐसे में मोदी सरकार पर दबाव बनाने के लिए एकजुटता होकर लड़ाई लडऩी होगी। बैठक के बाद प्रदेश प्रभारी अजय माकन ने पत्रकारों से बातचीत में महंगाई को लेकर मोदी सरकार को जमकर कोसा। प्रदेश कांग्रेस प्रभारी अजय माकन ने कहा कि कांग्रेस नेतृत्व ने राजस्थान कांग्रेस पर भरोसा जताया है। पहली बार रैली दिल्ली से बाहर हो रही है हम लोगों के लिए ये गर्व की बात है। कांग्रेस के सभी मंत्री, विधायक और संगठन के नेता अगले तीन दिन तक जिला और ब्लाक स्तर पर बैठक लेंगे।


Share