नेशनल हाईवे पर गहलोत सरकार बनाएगी ‘स्पेशल टूरिज्म जोन’ – पर्यटन को बढ़ावा देने की तैयारी

नेशनल हाईवे पर गहलोत सरकार बनाएगी 'स्पेशल टूरिज्म जोन'
Share

जयपुर (कार्यालय संवाददाता)। मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने प्रदेश में पर्यटन को बढ़ावा देना राज्य सरकार की प्राथमिकता बताया है। उन्होंने कहा है कि राज्य के नेशनल हाई वे पर स्पेशल टूरिज्म जोन और वे साइड जोन बनाने के लिए योजना बनाई जाएं, ताकि वहां पर्यटकों के लिए सुविधाएं विकसित हो सकें। गहलोत ने कहा कि ऐसे स्थानों का पर्यटन विशेषज्ञों द्वारा निरीक्षण कराया जाए। गहलोत ने कहा कि राजस्थान जैसा स्वागत-सत्कार किसी और राज्यों में नहीं होता है। इसे बनाए रखने के लिए नए विचारों के साथ योजना बनाएं। विभिन्न विषयों पर सेमिनार, फेस्टिवलों का आयोजन किया जाए। मुख्यमंत्री ने निर्देश दिए कि राजस्थान की एक ब्रांड के रूप में पहचान बनाने के लिए विशेष अभियान चलाएं। उन्होंने कहा कि रष्ट्र्रीय और अन्तर्राष्ट्रीय स्तर पर व्यापक ब्राडिंग से पर्यटन को न केवल नई पहचान मिलेगी, बल्कि उद्योगों को भी बढ़ावा मिलेगा।

राजस्थान जैसे लोकेशन कहीं नहीं : उषा शर्मा

मुख्य सचिव उषा शर्मा ने कहा कि राजस्थान जैसा लोकेशन देश में और कहीं भी नहीं है। बैठक में पैलेस ऑन व्हील्स का संचालन फिर से प्रारंभ करने पर भी चर्चा हुई। उन्होंने कहा कि पर्यटन को बढ़ावा देने के लिए वित्त वर्ष 2022-23 के बजट में पर्यटन को उद्योग को दर्जा दिया गया है। उन्होंने कहा कि सरकार का प्रयास है कि प्रदेश में पर्यटन उद्योग और मजबूत हो। ज्यादा से ज्यादा पर्यटक राजस्थान आएं, जिससे रोजगार के अधिकाधिक अवसर भी पैदा हो सकें।

जयपुर में होगा डोमेस्टिक ट्रैवल मार्ट का आयोजन

शर्मा ने कहा कि राज्य सरकार द्वारा पर्यटन विकास पर एक हजार करोड़ रुपये खर्च किए जा रहे हैं। पर्यटन विभाग के प्रमुख शासन सचिव गायत्री ए राठौड़ ने बताया कि 22 से 24 जुलाई तक जयपुर में राजस्थान डोमेस्टिक ट्रैवल मार्ट का आयोजन किया जाएगा। इसमें देशभर से टूर ट्रैवल ऑपरेटर्स, फिल्म निर्माता-निर्देशक, कलाकार सहित पर्यटन से जुड़े प्रमुख लोग शामिल होंगे।


Share