विदेशों से भी संसाधन जुटाएगी गहलोत सरकार

विदेशों से भी संसाधन जुटाएगी गहलोत सरकार
Share

जयपुर (कार्यालय संवाददाता)। कोरोना संक्रमण के भयावह होते हालात से निपटने के लिये हाल ही में तीन मंत्रियों के समूह को दिल्ली भेजने के बाद अब राज्य की गहलोत सरकार अधिकारियों का एक दल चीन भेजने पर विचार कर रही है। यह दल ऑक्सीजन और कंसंट्रेटर समेत अन्य संसाधनों की उपलब्धता के लिए चीन जाएगा। इसके साथ ही सरकार की ओर से अन्य देशों से संसाधन जुटाने की कवायद तेज कर दी गई है। मुख्यमंत्री निवास पर हुई कोविड-19 की समीक्षा बैठक में मुख्य सचिव निरंजन आर्य ने यह बात कही। बैठक में मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने कहा कि राज्य सरकार कोरोना संक्रमण की दूसरी घातक लहर से बेहद चिंतित है। उन्होंने अधिकारियों को निर्देश दिए कि प्रदेशवासियों की जीवन रक्षा के लिए जहां से और जिस तरह से संसाधन जुटा सकते हैं, जुटाएं। गहलोत ने कहा कि हमारा हर प्रयास इस संकट को दूर करने के लिए हो।

तीसरी और चौथी लहर की आशंका को ध्यान में रखें : सीएम गहलोत ने चिंता जाहिर करते हुए कहा कि कोविड की दूसरी लहर में हो रही मौतें संक्रमण की भयावह स्थिति दर्शाती है। युवा भी इस खतरनाक वायरस से असमय ही मौत का शिकार हो रहे हैं।

भर्ती होने वाले ज्यादातर रोगियों को हाई फ्लो ऑक्सीजन की जरूरत पड़ रही है। यह समय हमारे लिए चिंताजनक और चुनौती भरा है। सीएम ने अधिकारियों से कहा कि विशेषज्ञों द्वारा व्यक्त की गई तीसरी और चौथी लहर की आशंका को ध्यान में रखते हुए अभी से पुख्ता इंतजाम सुनिश्चित किए जाएं।

केन्द्र को जरूरतों से लगातार अवगत कराने के निर्देश

अस्पतालों में बेड, ऑक्सीजन, रेमडेसिविर, टोसिलिजुमेब और अन्य संसाधनों का समुचित एवं बेहतर प्रबंधन हो। मुख्यमंत्री ने यह भी कहा कि केन्द्रीय मंत्रियों तथा अधिकारियों से लगातार समन्वय बनाए रखें और उन्हें राजस्थान की जरूरतों से निरंतर अवगत कराए। गहलोत ने कंट्रोल रूम की गहन मॉनिटरिंग सुनिश्चित करने और 181 हेल्प लाइन का व्यापक प्रचार-प्रसार करने का भी निर्देश दिया है।


Share