नई कैबिनेट बनते ही तेवर में आए गहलोत, कहा- ‘2023 में फिर बनेगी कांग्रेस सरकार’

गहलोत सरकार के प्रमोटी प्रेम से नाखुश हैं र्आइएएस अधिकारी
Share

जयपुर (कार्यालय संवाददाता)। राजस्थान में कैबिनेट के 15 नए सदस्यों के शपथग्रहण करते ही मुख्यमंत्री अशोक गहलोत नए तेवर में आ गए हैं। गहलोत ने कहाकि प्रदेश में कांग्रेस एकजुटता और विकास के एजेंडे पर काम करेगी। साथ ही 2023 के विधानसभा चुनाव को जीतकर फिर से राज्य में सरकार बनाएगी।

‘जनता ने सरकार के सुशासन पर मुहर लगाई’

अशोक गहलोत आज नए मंत्रियों के शपथ लेने से पहले प्रदेश कांग्रेस मुख्यालय में पार्टी विधायकों की बैठक को संबोधित कर रहे थे। उन्होंने कहाकि हम सब एकजुटता के साथ कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी एवं पार्टी नेता राहुल गांधी के नेतृत्व में कांग्रेस की नीति, विचारधारा एवं कार्यक्रम को आम जनता तक लेकर जाएंगे। विकास के एजेंडे पर एक बार फिर 2023 के विधानसभा चुनाव को जीतकर फिर से राजस्थान में सरकार बनाएंगे। उन्होंने कहाकि हमारे कार्यकाल में हुए विधानसभा उपचुनावों एवं स्थानीय निकायों के चुनाव में कांग्रेस पार्टी को जीत दिलाकर जनता ने हमारी सरकार के सुशासन पर मुहर लगाई है।

‘हर चुनौती का मुकाबला किया’

अशोक गहलोत ने कहाकि हम सभी को आने वाले समय में भी जनता के इस विश्वास को बनाए रखने का है। इसके लिए पूरी मेहनत एवं समर्पण के साथ कार्य जारी रखना है। उन्होंने कहाकि आलाकमान जो फैसला करता है उसे मानना कांग्रेस की परंपरा है। सब मिलकर जिम्मेदारी निभायेंगे और सुशासन देंगे तो सरकार वापस आएगी। उन्होंने कहाकि राज्य सरकार ने कोरोना हो या कोई और चुनौती, सबका बखूबी मुकाबला किया। पिछले 35 महीने में हमारी सरकार ने प्रदेश को संवेदनशील, पारदर्शी एवं जवाबदेह सुशासन देने का कार्य किया है। तमाम विपरीत परिस्थितियों के बावजूद हमारी सरकार ने प्रदेश को विकास के पथ पर आगे बढ़ाया है। उन्होंने कहा कि गोविंद सिंह डोटासरा के नेतृत्व में कांग्रेस एकजुट रहेगी। उन्होंने मंत्री के रूप में शपथ लेने वाले सभी विधायकों को शुभकामनाएं दीं।


Share