गांगुली से पूछा जाना चाहिए कि उनकी बात में फर्क क्यों हुआ : गावस्कर

Ganguly should be asked why there was a difference in his point of view: Gavaskar
Share

नई दिल्ली (एजेंसी)। पूर्व भारतीय कप्तान और अब मशहूर कमेंटेटर सुनील गावस्कर मानते हैं कि भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड (बीसीसीआई) के अध्यक्ष सौरव गांगुली सबसे सही व्यक्ति होंगे जो ये बताएंगे कि विराट कोहली ने जो कहा है कि उनसे टी20 कप्तानी छोडऩे को लेकर दोबारा विचार करने के लिए किसी ने नहीं पूछा था, उसमें कितनी सच्चाई है। विराट के टी20 अंतर्राष्ट्रीय से कप्तानी छोडऩे के अगले ही दिन गांगुली ने कहा था कि बीसीसीआई ने उनसे अपने फैसले पर दोबारा विचार करने के लिए कहा था। जबकि दक्षिण अफ्रीका जाने से ठीक पहले प्रेस कॉन्फ्रेंस में विराट ने इस बात से इंकार किया कि उन्हें किसी ने दोबारा विचार करने के लिए कहा था।

पूर्व भारतीय कप्तान गावस्कर ने इंडिया टुडे के साथ हुई बातचीत में कहा, मुझे लगता है (कोहली की बात पर) यहां पर बीसीसीआई से नहीं बल्कि एक व्यक्ति विशेष से पूछा जाना चाहिए कि विराट तक बात क्यों नहीं पहुंची या संदेश क्यों नहीं गया। गांगुली बीसीसीआई के अध्यक्ष हैं लिहाजा उनसे बिल्कुल पूछा जाना चाहिए कि बात में फर्क क्यों है। मेरी नजर में गांगुली सबसे सही व्यक्ति हैं जो ये बता सकते हैं कि विराट आखिर ऐसा क्यों बोल रहे हैं।

टी20 अंतर्राष्ट्रीय से कप्तानी छोडऩे के बाद विराट को वनडे में भी कप्तान से हटा दिया गया है। अपनी प्रेस कॉन्फ्रेंस में विराट ने कहा था कि टेस्ट टीम की घोषणा होने से डेढ़ घंटे पहले उन्हें वनडे टीम की कप्तानी से हटा दिया गया था। इसकी सूचना उन्हें मुख्य चयनकर्ता से मिली थी। गावस्कर मानते हैं कि मुख्य चयनकर्ता चेतन शर्मा अपनी जगह पूरी तरह सही हैं।

गावस्कर ने कहा, इसमें किसी भी तरह के विवाद की बात ही नहीं, क्योंकि जब मुख्य चयनकर्ता ने ही उन्हें साफ कहा कि वह उन्हें वनडे कप्तान के तौर पर अब नहीं देखते हैं, तो ये मेरी नजर में बिल्कुल ठीक है। चयनकर्ता के पास इस बात का पूरा अधिकार होता है, जबकि कप्तान सिर्फ एक नॉन-वोङ्क्षटग सदस्य ही होता है। लिहाजा मेरी नजर में ये कहीं से गलत नहीं है और इसे विवाद बनाने से परहेज करना चाहिए।

सुनील गावस्कर ने हालांकि अपनी बात को आगे बढ़ाते हुए ये भी कहा कि बीसीसीआई को अपनी बात और भी स्पष्ट और साफ तरीके से रखनी चाहिए थी।

हां ये और भी अच्छा होता है जब आप अपनी बात को साफ और स्पष्ट तरीके से सामने रखें। मुझे लगता है आगे से अब इन चीज को ध्यान में रखते हुए मुख्य चयनकर्ता उस खिलाड़ी को बता सकते हैं कि आपको क्यों बाहर किया गया या क्यों आपका चयन हुआ है।


Share