भाजयुमो में गैंगवार- सन्नी गायब, हिमांशु के हाथ में लगाई रॉड, परिजनों ने किया थाने का घेराव

भाजयुमो में गैंगवार- सन्नी गायब, हिमांशु के हाथ में लगाई रॉड, परिजनों ने किया थाने का घेराव
Share

उदयपुर. नगर संवाददाता & शहर में गुरूवार को युवा मोर्चा शहर जिलाध्यक्ष सन्नी पोखरना द्वारा पूर्व युवा मोर्चा अध्यक्ष और भाजपा जिला मंत्री गजेन्द्र भण्डारी के कार्यालय पर हमला कर वहां पर बैठे अपने ही महामंत्री हिमांशु बागड़ी पर जानलेवा हमला करने के मामले में शुक्रवार को दिनभर राजनीति गर्माई रही। इधर शुक्रवार को इस प्रकरण में वांछित सन्नी पोखरना और अन्य आरोपी गायब है और इनके फोन भी बंद आ रहे है। इधर मारपीट में गंभीर रूप से घायल हिमांशु बागड़ी को परिजन अहमदाबाद लेकर गए, जहां पर उसके हाथ में रॉड लगाई है। इधर बागड़ी की मां और अन्य परिजन व साथी भुपालपूरा थाने पर पहुंचे और वहां पर आरोपियों की गिरफ्तारी की मांग को लेकर प्रदर्शन किया। प्रकरण में भाजपा शहर जिलाध्यक्ष रविन्द्र श्रीमाली ने युवा मोर्चा शहर अध्यक्ष सन्नी पोखरना को कारण बताओं नोटिस जारी किया है। वहीं शहर विधायक गुलाबचंद कटारिया ने भी माना है कि दोनो के बीच में राजनीतिक विवाद चल रहा है, पर तलवार लेकर हमला करने का अधिकार किसने दिया।

जानकारी के अनुसार युवा मोर्चा शहर जिलाध्यक्ष सन्नी पोखरना ने गुरूवार को भुपालपूरा एल रोड़ स्थित पूर्व युवा मोर्चा अध्यक्ष और वर्तमान भाजपा शहर मंत्री गजेन्द्र भण्डारी के कार्यालय पर अपने साथी राहुल हेमनानी (अमन असनानी नहीं), सेक्टर 14 के किसी कुलदीप सिंह व अन्य साथियों के साथ पहुंचा और वहां पर जाते ही कार्यालय के बाहर चबूतरी पर बैठे युवा मोर्चा शहर महामंत्री हिमांशु बागड़ी, रजत सोनी, अमित माली, नीतिन जैन, नरपत सिंह और ओम टांक पर हमला कर दिया। जैसे ही मारपीट शुरू ुहुई तो वहां पर भण्डारी सहित सभी पदाधिकारी और नेता भाग गए और इन लोगों ने हिमांशु बागड़ी को पकड़ लिया और लात-घूंसों से मारपीट की। युवाओं ने बागड़ी की कार को तोड़ दिया और भण्डारी के कार्यालय में भी तोडफ़ोड़ की। करीब पांच मिनट तक चले इस घटनाक्रम मेें हिमांशु बागड़ी को जबरन उठाकर ले गए और कुछ आगे जाकर धमकाकर छोड़ दिया। जिस पर हिमांशु बागड़ी को एमबी चिकित्सालय में भर्ती करवाया गया था। जहां पर रात्रि को चक्कर आने पर हिमांशु को उसके पिता और साथी गजेन्द्र भण्डारी व अन्य अहमदाबाद में पालड़ी में एक निजी चिकित्सालय में लेकर गए, जहां पर जांच में एक हाथ में फ्रेक्चर होने पर चिकित्सकों ने ऑपरेशन कर बाएं हाथ में रॉड डाली। इसके साथ ही बागड़ी को बार-बार चक्कर आने की शिकायत पर उसका सिटी स्कैन किया गया। इधर इस प्रकरण में हिमांशु बागड़ी की रिपोर्ट पर सन्नी पोखरना, कुलदीपसिंह, राहुल हेमनानी, गजेन्द्र देवड़ा, प्रतापसिंह देवड़ा, निशांत वर्मा उर्फ कालू, विश्वजीत सिंह सहित कई अन्य के खिलाफ विभिन्न धाराओं में मामला दर्ज करवाया है।

सन्नी अण्डर ग्राउण्ड, फोन बंद

इधर युवा मोर्चा शहर अध्यक्ष सन्नी पोखरना का फोन गुरूवार की घटना के बाद रात्रि को नौ बजे तक तो ऑन था और इसके बाद से ही फोन बंद है। सन्नी पोखरना अपने साथियों के साथ अण्डर ग्राउण्ड हो गया है। नजदीकियों ने बताया कि अब आगे की रणनीति को तैयारी की जा रही है। सन्नी के साथ-साथ उसके समर्थकों के भी फोन बंद आ रहे है।

बागडी की मां और परिजन पहुँचे थाने

इधर इस प्रकरण में आरोपियों की गिरफ्तारी की मांग को लेकर मारपीट में घायल हुए हिमांशु बागड़ी की मां और उसके अन्य परिजन शुक्रवार शाम को थाने पर पहुंच गए और वहां पर थाने का घेराव किया। बागड़ी के परिजनों ने अभी तक सनी पोखरना को नहीं पकडऩे का कारण पूछा और पुलिस कार्यवाही पर आक्रोश जताया। इस पर थानाधिकारी भवानी सिंह राजावत ने बताया कि गिरफ्तारी के लिए टीमें लगा रखी है और शीघ्र ही उसे और उसके साथियों को गिरफ्तार कर लिया जाएगा।

पोखरना को भाजपा ने नोटिस

इधर इस प्रकरण में भाजपा शहर जिलाध्यक्ष रविंद्र श्रीमाली ने युवा मोर्चा जिला अध्यक्ष सनी पोखरना को गुरूवार की घटना को लेकर कारण बताओ नोटिस जारी करके घटना का कारण पूछा। इस पत्र के जवाब के बाद ही कोई कार्रवाई करने के लिए संगठन विचार.विमर्श करेगा।

रंजिश है पर तलवार लेकर हमला करने का अधिकार किसने दिया – कटारिया

इस मामले में गुलाबचंद कटारिया ने कड़ी प्रतिक्रिया देते हुए सनी पोखरना के खिलाफ सख्त कार्रवाई के लिए कहा है और पूर्व जिलाध्यक्ष भंडारी के बचाव के संकेत दिए है। कटारिया ने स्वीकारा कि जिलाध्यक्ष पोखरना और पूर्व जिलाध्यक्ष भंडारी के बीच राजनीतिक लड़ाई है पर पोखरना को तलवार लेकर हमले करने के लिए भंडारी के दफ्तर पर जाने का अधिकारी किसने दिया।


Share