धर्म से जन्म मरण चक्र से मुक्ति

धर्म से जन्म मरण चक्र से मुक्ति
Share

मुंबई। मेवाड़ संघ मुंबई उपसंघ घाटकोपर में पर्यूषण के प्रथम दिवस श्रमण संघीय साध्वी विश्ववन्दना मसा ने कहा कि धर्म के लिए समय निकालो। अपनी सोच सही रखो। दूसरों के बहकावे में मत आओ। साध्वी परमेष्ठिवन्दना मसा ने अन्तगढ़ सुत्र वाचन पश्चात कहा कि संवत्सरी पर्व पाप मिटाने और परमात्मा से मिलाने आता है। पयूर्षण पर्व में हम अपने आठों कर्मों का क्षय कर मोक्ष को प्राप्त कर सकते हैं। इस अवसर पर पूर्व संघ अध्यक्ष सुरेश डी सिंघवी अध्यक्ष चांदमल कर्णावट मंत्री हिम्मत रांका डालचंद्र सिंघवी, सुरेश रांका, नाथूलाल खरवड़, मदनलाल पामेचा, मनोहरलाल सोनी, अर्जुनलाल कोठारी, सम्पत भंडारी, भेरूलाल भलावत, धर्मचंद पामेचा, सम्पत ओस्तवाल, प्रकाश कच्छारा, दिनेश पीपाड़ा, महेन्द्र पीपाड़ा, रमेश राजावत,श्याम सिंघवी,डुंगरसिंह भडकतिया,दिनेश रायसोनी,पवन कोठारी,गजेन्द्र सिंघवी, भंवरलाल मेहता,अरविंद पानगडिया,देवेन्द्र सोलंकी महिला मंडल मंत्री रक्षा कुकड़ा कोषाध्यक्ष रिना चोरड़िया नवयुवक मंडल अध्यक्ष शैलेश रांका मंत्री दिलपेश चीपड़़ कोषाध्यक्ष राहुल सेठिया हितेश खरवड़, विजय संचेती,भावेश मादरेचा, धर्मेन्द्र बोकड़िया,गौरव मादरेचा,नमन नाबेडा, मयंक सिंघवी कन्या मंडल अध्यक्ष हिनल कोठारी मंत्री सलोनी खरवड़ आदि उपस्थित थे। यह जानकारी देवीलाल ईन्टोदिया ने दी।


Share