महाराष्ट्र में डेल्टा प्लस वेरिएंट से पहली मौत- राज्य के स्वास्थ्य मंत्री ने की पुष्टि

कोरोना वायरस वैक्सीन शोध
Share

मुंबई (कार्यालय संवाददाता)। महाराष्ट्र में कोरोना वायरस संक्रमण के डेल्टा प्लस वेरिएंट से संक्रमित पहले व्यक्ति की मौत शुक्रवार को हुई। इस आशय की पुष्टि राज्य के स्वास्थ्य मंत्री राजेश टोपे ने की। टोपे ने मीडिया से कहा कि महाराष्ट्र में डेल्टा प्लस वेरिएंट के 21 मरीजों से में 1 की मौत हो गई। मृतक की उम्र 80 वर्ष थी और वह अन्य बीमारियों से भी पीडि़त थे। राज्य में डेल्टा प्लस के रत्नागिरी में 9, जलगांव में 7 मामले, मुंबई में दो और पालघर, ठाणे तथा सिंधुदुर्ग जिले में एक-एक मामला सामने आए हैं।

गौरतलब है कि महाराष्ट्र के स्वास्थ्य विभाग ने पिछले सप्ताह एक प्रस्तुतिकरण दिया था जिसमें कहा था कि संक्रमण का नया स्वरूप ‘डेल्टा प्लस’ राज्य में कोविड-19 की तीसरी लहर का कारण बन सकता है। मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे, राज्य कोविड-19 कार्य बल के सदस्य और स्वास्थ्य विभाग के सदस्य भी इस बैठक में शामिल हुए थे।

यह नया स्वरूप ‘डेल्टा प्लस’ भारत में सबसे पहले सामने आए ‘डेल्टा’ या ‘बी.वी.1.617.2’ स्वरूप में ‘म्यूटेशन’ से बना है। भारत में संक्रमण की दूसरी लहर आने की एक वजह ‘डेल्टा’ भी था।

इसके पहले मध्य प्रदेश के उज्जैन में भी एक मरीज की मौत हो चुकी है। इस प्रकार देश में डेल्टा प्लस वैरियंट की वजह से शुक्रवार को यह दूसरी मौत हुई है। उज्जैन में दो मरीज डेल्टा प्लस वैरियंट से संक्रमित पाए गए थे। जिनमें एक महिला मरीज की मौत हो गई थी। फिलहाल राज्य सरकार इस बात की छानबीन कर रही है कि क्या यह रिप्लेसमेंट ऑफ वायरस हुआ है। क्या जिन्हें पहले से डेल्टा था अब डेल्टा प्लस हुआ है? डेल्टा को डेल्टा प्लस वायरस ने रिप्लेस किया है क्या? इन तमाम बातों की जांच में महाराष्ट्र की मेडिकल टीम जुटी हुई है।


Share