वसीम रिजवी के खिलाफ कुरान की याचिका के बाद दर्ज़ हुई FIR

वसीम रिजवी के खिलाफ कुरान की याचिका के बाद दर्ज़ हुई FIR
Share

वसीम रिजवी के खिलाफ कुरान की याचिका के बाद दर्ज़ हुई FIR- शिया वक्फ बोर्ड के पूर्व अध्यक्ष वसीम रिजवी के खिलाफ बरेली के कोतवाली पुलिस स्टेशन में कथित रूप से कुरान धर्म को चोट पहुंचाने के मामले में FIR दर्ज़ की गई है।

FIR को IPC की धारा 295 ए (जानबूझकर किसी भी वर्ग की धार्मिक भावनाओं को अपमानित करना) के तहत दर्ज किया गया है।

रविवार को मुरादाबाद शहर के एक स्थानीय वकील ने रिजवी की हत्या के लिए इनाम की घोषणा की थी, जिसने पुलिस को उसके खिलाफ FIR करने के लिए प्रेरित किया था।

मुस्लिम की छवि धूमिल कर रहे हैं रिज़वी: मौलवी

यूपी के मुख्य मौलवी ने दावा किया कि कुरान से 26 आयतों को हटाने की मांग वाली याचिका केवल और केवल मुस्लिम समुदाय की छवि को धूमिल करने की कोशिश है।

दरगाह आला हजरत के मौलवियों ने भी जनहित याचिका दायर करने के कदम की निंदा की थी और रिजवी के खिलाफ राष्ट्रीय सुरक्षा कानून लागू करने की मांग की थी। रविवार को मुजफ्फरनगर में रिजवी के खिलाफ दो शिकायतें दर्ज की गईं, जबकि देश के कई हिस्सों में बड़े पैमाने पर आक्रोश था।

बरेली के SSP रोहित सिंह सजवान ने बताया कि “कई धार्मिक समूह रिजवी का विरोध कर रहे हैं और उन पर ​​आरोप हैं कि मीडिया में दिए गए विवादित बयान के कारण रिजवी ने समुदाय के कई सदस्यों की धार्मिक भावनाएं आहत किया है। उनके खिलाफ FIR दर्ज़ हो चुकी हैंआगे की जांच जारी हैं। इसके अलावा तेलंगाना, कश्मीर और अन्य राज्यों में  भी रिजवी के खिलाफ FIR दर्ज हुई है।

कुरान से 26 छंद हटाए जाने की याचिका दायर की थी वसीम रिजवी ने

उत्तरप्रदेश शिया वक्फ बोर्ड के पूर्व अध्यक्ष रहे वसीम रिजवी ने कुरान से 26 छंदों को हटाने के लिए सुप्रीम कोर्ट में एक याचिका दायर की है, जिसमें उन्होंने इस पर “आतंकवाद और जिहाद को बढ़ावा देना” आरोप लगाया था। इसके बाद ही वो मुसीबतों में घिर गए हैं।


Share