ज्यादा टीकाकरण के कारण मौतें कम

Fewer deaths due to more vaccinations
Share

नई दिल्ली (एजेंसी)। भारत में कोरोना वायरस की तीसरी लहर का कहर जारी है। देश में पिछले 24 घंटे में कोरोना के 3 लाख से ज्यादा केस आए हैं। इस बीच स्वास्थ्य मंत्रालय ने प्रेस कॉन्फ्रेंस कर लोगों के डर को कम करने की कोशिश की। स्वास्थ्य सचिव राजेश भूषण ने पत्रकारों से बातचीत के दौरान बताया कि भारत दूसरी लहर के मुकाबले इस बार कोरोना की लहर से निपटने के लिए ज्यादा बेहतर तरीके से तैयार है। उन्होंने आंकड़े रखते हुए कहा कि भारत में पिछले साल यानी 30 अप्रैल 2021 तक सिर्फ 2 फीसदी लोगों को वैक्सीन लगी थी, इसलिए 3 लाख 86 हजार केसों के साथ भारत में 3059 लोगों की मौत भी हुई थी। लेकिन इस बार तीसरी लहर में 20 जनवरी तक 72 फीसदी लोगों को कोरोना वैक्सीन की दोनों डोज लग चुकी हैं। इसलिए केसों की संख्या भले ही 3 लाख 17 हजार से ज्यादा है, लेकिन मौतों का आंकड़ा 380 है।

दुनिया और भारत में क्या हैं ओमिक्रॉन की लहर से हालात?

स्वास्थ्य सचिव ने बताया- वर्तमान में विश्व में कोविड की चौथी लहर देखी जा रही है, पिछले एक हफ्ते में दुनिया में प्रतिदिन 29 लाख मामले दर्ज किए गए। हालांकि, पिछले चार हफ्तों में अफ्रीका में कोविड मामले घट रहे हैं। एशिया में कोविड मामले बढ़े हैं। यूरोप में भी मामले घट रहे हैं। उन्होंने भारत के हालात बताते हुए कहा, भारत में वर्तमान में लगभग 19 लाख सक्रिय मामले हैं, पिछले एक सप्ताह में प्रतिदिन लगभग 2,71,000 मामले दर्ज किए जा रहे हैं। पॉजिटिविटी रेट 16% है। पिछले 24 घंटों में 3,17,000 मामले दर्ज किए गए। 1 जनवरी को सिर्फ 22 हजार मामले दर्ज किए गए थे। टेस्टिंग और संक्रमण दर को लेकर क्या डेटा सामने आया? : पिछले चार दिनों से देश में कोविड टेस्ट को लगातार बढ़ाया गया है। पिछले 24 घंटों में लगभग 19 लाख टेस्ट किए हैं। हालांकि, कुछ राज्य अभी चिंता का विषय बने हैं। महाराष्ट्र में साप्ताहिक पॉजिटिविटी रेट 2′ से बढ़कर 22′ हो गई है। पिछले हफ्ते के मामले भी 2.91 लाख हो गए हैं। कर्नाटक में पॉजिटिविटी एक महीने पहले संक्रमण दर 0.5′ थी जो अब 15′ हो गई है। इसके अलावा तमिलनाडु (20 फीसदी संक्रमण दर) केरल (32 फीसदी), दिल्ली (30 फीसदी) और यूपी (6 फीसदी) भी हमारे लिए चिंता का विषय बने हुए हैं।


Share