फलासिया : दुश्मन से मिलती थी युवक की शक्ल, गलतफहमी में हो गई हत्या

फलासिया : दुश्मन से मिलती थी युवक की शक्ल, गलतफहमी में हो गई हत्या
Share

उदयपुर. नगर संवाददाता & जिले के फलासिया थाना क्षेत्र में दीपोत्सव की शाम को एक किशोर की चाकू से हमला कर हत्या कर दी। इस पर मृतक के परिजन और ग्रामीण कार्यवाही की मांग को लेकर अड़ गए। परिजन आरोपियों की गिरफ्तारी के साथ ही जिला कलेक्टर को मौके पर बुलाने, मृतक के परिजनों को मुआवजा देने और मृतक के परिवार में से किसी एक को सरकारी नौकरी देने की मांग पर अड़ गए थे। मामले में पुलिस ने कार्यवाही करते हुए दो हत्यारों को गिरफ्तार कर लिया।

पूछताछ में पता चला कि हत्यारों की एक गैंग है और इनका दूसरी गैंग से विवाद चल रहा था। नशे में हत्यारों को मृतक का चेहरा दूसरी गिरोह के सदस्य जैसा लगा और मृतक को दूसरे गिरोह का मानकर चाकूओं से हमला कर दिया। हत्यारों की गिरफ्तारी पर एक बार तो ग्रामीण और परिजन माने।

पुलिस सूत्रों के अनुसार कोल्यारी निवासी हिमांशु शर्मा (16) पुत्र गणेशलाल लौहार को उसके पिता ने दीपावली पर कोल्यारी में ही स्थित प्लॉट से ट्रक लाने के लिए कहा था। उसे एक युवक गणेश लाल लौहार निवासी कोल्यारी ने मोटरसाईकील से गाडी पर छोड़ा था। जो ट्रक के पास गया तो अंदर कुछ युवक शराब पी रहे थे। इन युवकों को शराब पीने से रोका और वह ट्रक लेकर रवाना हुआ ही था कि रास्ते में ये बदमाश फिर से मिल गए और ट्रक पर पथराव कर उसे रोक और हिमांशु पर चाकू से हमला कर गंभीर घायल कर दिया और फरार हो गए। घायल हिमांशु शर्मा ने अपने पिता को फोन किया और कहा कि उसे चाकू से गंभीर घायल कर दिया और उसे बचाओं तो उसका पिता मौके पर गए और मौके पर जाकर देखा तो उसका पुत्र हिमांशु स्टेयिरंग पर पड़ा था और शरीरब खून से सना था। इस पर उसे तत्काल झाडोल चिकित्सालय में लेकर गए, जहां पर उपचार के दौरान इस युवक ने दम तोड़ दिया।  सूचना मिलने पर मौके पर मृतक के काफी संख्या में परिजन आ गए और पुलिस को बताया। इस पर मौके पर फलासिया थानाधिकारी रामनारायण भी पहुँचे और उच्चाधिकारियों को बताया। इस पर शुक्रवार को मुआवजे, एक की सरकारी नौकरी और स्थाई पुलिस चौकी की मांग को लेकर जमकर विरोध हुआ। ग्रामीणों ने कोल्यारी बाईपास पर टायर जलाकर प्रदर्शन किया। इस पर मौके पर अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक अनंत कुमार सहित भारी संख्या में पुलिस जाब्ता पहुँचा। परिजनों ने मृतक के परिवार को नियमाुनसार मुआवजा दिलवाने और पुलिस चौकी में एक हैड कांस्टेबल और 4 कांस्टेबल को लगाने का आश्वासन दिया। एएसपी ने आश्वासन दिया कि कहा कि हाईवे पर 58 ई पर झाडोल थाना क्षेत्र से गरणवास तक मोबाइल गश्त रहेगी। पुलिस ने मृतक का पोस्टमार्टम करवा शव परिजनों के सुपुर्द कर दिया। इधर पुलिस ने इस प्रकरण में थानाधिकारी के नेतृत्व में एएसआई जगदीश, हेमेन्द्र, हैड कांस्टेबल हितेन्द्र सिंह, कांस्टेबल जगदीश, रमेशचन्द्र, कैलाशचन्द्र की टीम का गठन किया।

इसी दौरान हैड कांंस्टेबल हितेन्द्र सिंह को सूचना मिली कि यह घटना पूर्व की रंजिश के कारण गुरपाल पुत्र करणसिंह सिसोदिया तथा प्रवीण पुत्र पूना दरोगा निवासी आदिवास फलासिया तथा उसके साथियो द्वारा किया गया है। इस पर पुलिस ने इन बदमाशों की तलाश की और गुरपाल सिंह और प्रवीण दरोगा को गिरफ्तार किया। आरोपियों ने अपने साथियों के साथ मिलकर हत्या करना स्वीकारा है। हत्या के मामले में पुलिस ने दो आरोपियों को गिरफ्तार किया है। हालांकि अभी और भी लोगों की गिरफ्तारी बाकी है। पुलिस आरोपियों से पूछताछ कर रही है।ँ

दुश्मन गिरोह के सदस्य से शक्ल मिलने के कारण की हत्या

पुलिस ने आरोपियों से पूछताछ में चौंकाने वाली कहानी सामने आई है। मृतक हिमांशु शर्मा की चचेरे भाई चंदन शर्मा से शक्ल मिलती है और आरोपियों का चंदन शर्मा से विवाद चल रहा है। इसी कारण जब हिमांशु शर्मा ट्रक लेने जा रहा था तो ये आरोपी ट्रक में बैठकर शराब पी रहे थे। हिमांशु ने टोंका तो ये आरोपी नशे में हिमांशु को चंदन शर्मा समझ गए। इसके बाद रास्ते में ट्रक पर पथराव किया, जिससे ट्रक अनियत्रिंत होकर सड़क के किनारे उतर गया और आरोपियों ने हिमांशु को चंदन समझकर चाकू से हमला कर हत्या कर दी।


Share