केन्द्रीय मंत्रिमंडल का विस्तार आज – शाम 5.30 से 6.30 बजे के बीच शपथ लेंगे नए मंत्री !

मोदी ने ली विपक्ष की चुटकी
Share

नई दिल्ली (एजेंसी)। मोदी सरकार के दूसरे कार्यकाल में पहली बार होने वाले कैबिनेट विस्तार की अटकलों पर अब विराम लग गया है अब ये तय हो गया है कि बुधवार मोदी कैबिनेट का विस्तार होने जा रहा है। जानकारी के मुताबिक, बुधवार शाम 5.30 बजे के करीब नए मंत्रियों को पद और गोपनीयता की शपथ दिलाई जा सकती है। सूत्रों के मुताबिक, प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी अपने मंत्रिमंडल में युवाओं को तरजीह देंगे। साथ ही उच्च शिक्षा वाले सांसदों को भी मौका दिया जा सकता है। बताया जा रहा है कि 20 से अधिक नए चेहरे को मंत्री पद की शपथ दिलाई जाएगी। शपथ ग्रहण में शपथ लेने वाले मंत्री के परिवार के सिर्फ एक सदस्य को कार्यक्रम में शामिल होने की अनुमति दी जाएगी।

ओबीसी को मिलेगा अधिक प्रतिनिधित्व : सूत्रों के मुताबिक, उत्तर प्रदेश में अगले विधानसभा चुनाव के मद्देनजर ओबीसी वर्ग को अधिक से अधिक प्रतिनिधित्व दिया जाएगा। जानकारी के अनुसार, मोदी कैबिनेट में सबसे अधिक ओबीसी मंत्री बनाए जा सकते हैं। इसके अलावा अनुसूचित जाति और अनुसूचित जनजाति के 10-10 मंत्रियों के होने की संभावना है।

उच्च शिक्षा वालों को दी जाएगी तरजीह : सूत्रों के अनुसार, प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी अपने कैबिनेट में इस बार उच्च शिक्षा वाले सांसदों को अधिक तरजीह देंगे। बताया जा रहा है कि नए मंत्रिमंडल में सबसे अधिक युवा सांसदों को जगह दी जाएगी। लिहाजा मंत्रिमंडल विस्तार के बाद ये भारत के इतिहास का सबसे युवा मंत्रिमंडल हो जाएगा। जानकारी के अनुसार, अधिक युवाओं को शामिल किए जाने के बाद मंत्रिमंडल की औसत आयु काफी कम हो जाएगी। नए मंत्रिमंडल में प्रोफेशनल, मेनेजमेंट, एमबीए, पोस्ट ग्रेजुएट युवाओं को शामिल किया जाएगा। उत्तर प्रदेश, महाराष्ट्र जैसे बड़े राज्यों को अधिक हिस्सेदारी दी जाएगी। बताया जा रहा है कि पीएम मोदी इस बार बुंदेलखंड, पूर्वांचल, मराठवाड़ा, कोंकण जैसे इलाको को भी प्रतिनिधित्व देंगे।

कई नेता दिल्ली के लिए रवाना

मंगलवार को मध्य प्रदेश से ज्योतिरादित्य सिंधिया, असम से सर्बानंद सोनोवाल, महाराष्ट्र से नारायण राणे और यूपी से अनुप्रिया पटेल दिल्ली के लिए रवाना हो गए हैं। वहीं अपने दक्षिण भारत के दौरे को बीच में छोड़कर उपराष्ट्रपति वेंकैया नायडू भी दिल्ली के लिए रवाना हो गए हैं। चूंकि नए मंत्रियों के शपथ समारोह के दौरान उपराष्ट्रपति भी मौजूद रहेंगे।

मालूम हो कि वर्तमान में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के कैबिनेट में मंत्रियों की संख्या 53 है, जिसे बढ़ाकर 81 किया जा सकता है। यह विस्तार आगामी विधानसभा चुनावों को ध्यान में रखकर भी किया जा सकता है।


Share