अजमेर-उदयपुर के बीच शुरू हुई इलेक्ट्रिक ट्रेन

अजमेर-उदयपुर के बीच शुरू हुई इलेक्ट्रिक ट्रेन
Share

उदयपुर (प्रासं)। अजमेर-उदयपुर रेलमार्ग के हाल ही में विद्युतीकरण के बाद ट्रेनों के संचालन की स्वीकृति मिलने पर शनिवार को मदार स्टेशन से राणा प्रतापनगर स्टेशनों के बीच विद्युत इंजन से पहली मालगाड़ी का संचालन किया गया। लोको संख्या 32286 इलेक्ट्रिक इंजिन युक्त मालगाड़ी मदार से 3.20 बजे रवाना होकर 10.45 बजे राणाप्रताप नगर स्टेशन पहुंची। मंडल रेल प्रबंधक नवीन कुमार परसुरामका ने इसे अजमेर मंडल के लिए ऐतिहासिक पल बताया और कहा कि लंबे समय से इस मार्ग से संबंधित यात्रियों को विद्युत ट्रेन चलने का इंतजार था जो आज पूरा हो गया। शीघ्र ही विद्युतीकृत इंजन युक्त यात्री ट्रेन का संचालन भी इस मार्ग पर किया जाएगा। उन्होंने वरिष्ठ मंडल बिजली इंजीनियर पंकज मीणा सहित  मंडल के अन्य अधिकारियों की इस सफल संचालन पर प्रशंसा की। उल्लेखनीय है कि 320.18 करोड़ रूपये की लागत से  294.50 किलोमीटर लंबे अजमेर -उदयपुर विद्युतीकृत रेल मार्ग पर 18 दिसंबर को रेल संरक्षा आयुक्त द्वारा निरीक्षण तथा स्वीकृति के बाद यह संचालन किया गया है।  मंडल के अजमेर-पालनपुर खंड पर भी विद्युतीकरण का काम तीव्र गति से जारी है। अजमेर-उदयपुर मार्ग के विद्युतीकरण से राजस्थान के प्रमुख पर्यटक स्थल उदयपुर का जुड़ाव अजमेर, जयपुर तथा दिल्ली से इलेक्ट्रिक ट्रेक्शन से हो गया है। अब इंजन चेंज करने में लगने वाले समय में कमी आयेगी। यह रेलखंड इस क्षेत्र से दिल्ली की ओर जाने वाले मार्ग को पर्यावरण अनुकूल रेल परिवहन से जोडऩे में सहायक होगा।

विद्युतीकरण होने से यात्रियों ये फायदे होंगे

<ट्रेनों की औसत गति बढ़ेगी

<डीजल इंजन के धुएं से मुक्ति मिलेगी

<विद्युत इंजनों की लोड क्षमता अधिक होने से अधिक भार वहन

<अधिक ट्रेनों का संचालन संभव होगा

<ईंधन आयात पर निर्भरता में कमी

<वर्तमान में इलेक्ट्रिक ट्रेनों का उत्पादन अधिक होने व इनमें अत्याधुनिक टेक्नालॉजी के उपयोग के कारण अधिक सुविधाएं मिलेगी

<इलेक्ट्रिक रेलगाडिय़ां तेजी से गति पकड़ेगी व तुरंत रूकने के कारण औसत गति अधिक होगी


Share