चुनाव आयोग की बड़ी कार्रवाई, 253 राजनीतिक दल किए निष्क्रिय, 86 को सूची से हटाया

Election Commission warns by writing a letter, political parties should not make hollow election promises
Share

नई दिल्ली (एजेंसी)। चुनाव आयोग ने नियमों का पालन नहीं करने वाले देश के करीब 253 छोटे दलों को निष्क्रिय कर दिया है। जिन छोटे दलों को निष्क्रिय किया गया है उनमें कई राज्यों में चुनाव लड़ती रहीं पार्टियां शामिल हैं। इसको लेकर बिहार, यूपी, कर्नाटक, महाराष्ट्र, तमिलनाडु, तेलंगाना और दिल्ली के मुख्य चुनाव अधिकारियों की रिपोर्ट के आधार पर इन पार्टियों को निष्क्रिय कर दिया गया है। इसके साथ ही 86 छोटी पार्टियों का नाम भी चुनाव आयोग ने राजनीतिक दलों की सूची से हटा दिया है।

बताया गया है कि भारत निर्वाचन आयोग लंबे समय से उन राजनीतिक दलों की जानकारी जुटा रहा था जो चुनाव चिन्ह मिलने के बाद सक्रिय नहीं दिख रहे थे। इसी को लेकर चुनाव आयोग ने बिहार, यूपी, कर्नाटक, महाराष्ट्र, तमिलनाडु, तेलंगाना और दिल्ली के मुख्य चुनाव अधिकारियों से इसको लेकर डिटेल रिपोर्ट तैयार कराई। इसी रिपोर्ट के आधार पर इन पार्टियों को निष्क्रिय कर दिया गया है। बताया गया है कि 253 दलों को चुनाव आयोग ने नोटिस भेजा था। छोटे दलों ने चुनाव आयोग के नोटिस का जवाब नहीं दिया था। चुनाव आयोग के नियमों का पालन नहीं करने और नोटिस का जवाब नहीं देने पर कार्रवाई

जानकारी के मुताबिक चुनाव लडऩे के लिए आयोग से अनुमति मिलने के बाद चुनाव चिन्ह से जुड़ी शर्तो का पालन करना अनिवार्य होता है। देश के कई राज्यों के छोटे दल इसका पालन नहीं कर रहे थे। नियमों का पालन नहीं करने पर 253 पार्टियों को निष्क्रिय कर दिया गया है।

कई चुनाव से दूर थे छोटे दल, सर्वे रिपोर्ट के बाद राजनीतिक दलों की सूची से हटाया

यह वह पार्टियां हैं जो पिछले कई चुनावों से दूर रहीं थीं। उनके द्वारा कोई प्रत्याशी मैदान में नहीं उतारा जा रहा था। इसी को संज्ञान लेते हुए चुनाव आयोग ने यह कार्रवाई की है। इसके साथ ही 86 छोटी पार्टियों का नाम भी चुनाव आयोग ने राजनीतिक दलों की सूची से हटा दिया है।


Share