चुनाव आयोग ने सीएम ममता बनर्जी पर हुए हमले पर दी अपनी राय

ABP-CNX ओपिनियन पोल 2021
Share

बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी को कल अस्पताल से छुट्टी मिल गई है जिसके बाद वह अपने घर पहुंच गई हैं। चुनाव आयोग का कहना हैं कि सीएम बनर्जी पर किए गए हमले का कोई सबूत नहीं मिला है। यह नंदीग्राम घटना पर निरीक्षण करने के बाद बताया गया है। बता दें कि चुनाव प्रचार के दौरान ममता पर हमला हुआ था जिसमें टीएमसी प्रमुख को चोटें आईं और उसके पैर में फ्रैक्चर हो गया था।

भारत निर्वाचन आयोग (ईसीआई) ने बुधवार को  कहा कि यह एक दुर्घटना थी जिसमें वह घायल हो गई थी। इससे पहले भी शनिवार को, चुनाव पर्यवेक्षकों ने पश्चिम बंगाल सरकार द्वारा नंदीग्राम में सीएम बनर्जी पर कथित हमले को “स्केच” के रूप में प्रस्तुत किया था। चुनाव आयोग ने बंगाल के मुख्य सचिव, विशेष पर्यवेक्षक अजय नायक और विशेष पुलिस पर्यवेक्षक विवेक दुबे से शुक्रवार शाम तक इस मामले में रिपोर्ट मांगी थी।

इस मामले पर बात करते हुए, केंद्रीय गृह राज्य मंत्री जी किशन रेड्डी ने कहा था कि सीएम बनर्जी नाटक किया है उनकी अपनी पार्टी तृणमूल कांग्रेस (टीएमसी) के लोगों को भी पता है कि उनके ऊपर कथित हमला एक नाटक है।यह केवल चुनाव आयोग के पर्यवेक्षकों का ही नहीं, बल्कि आम लोगों का भी यही विचार है। हर पार्टी के लोग, उनकी अपनी पार्टी के लोग, पश्चिम बंगाल पुलिस, सभी लोग सोचते हैं कि यह एक नाटक है।

बनर्जी, जो नंदीग्राम की दो दिवसीय यात्रा पर थे, जहाँ से उन्होंने बुधवार को अपना नामांकन दाखिल किया, ने आरोप लगाया कि चुनाव प्रचार के दौरान उन्हें कुछ अज्ञात लोगों द्वारा धक्का दिया गया था।

जिसमें वे घायल हो गई थी जिसके चलते उन्हें अस्पताल में भर्ती कराया गया था जहां से कल उनको छुट्टी दे दी गई थी।

पश्चिम बंगाल में 27 मार्च से शुरू होने वाले आठ चरण के विधानसभा चुनाव होंगे

पश्चिम बंगाल की 16 वीं विधान सभा का कार्यकाल इस वर्ष 30 मई को समाप्त होगा। पश्चिम बंगाल की 17 वीं विधानसभा के लिए कुल 7,34,07,832 मतदाता अपने प्रतिनिधि का चयन करेंगे। मतगणना 2 मई को होगी।


Share