फारूक अब्दुल्ला से ईडी की पूछताछ

फारूक अब्दुल्ला से ईडी की पूछताछ
Share

श्रीनगर (एजेंसी)। प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) ने जम्मू-कश्मीर क्रिकेट संघ (जेकेसीए) के कोष में कथित गबन से संबंधित मनी लॉन्ड्रिंग के एक मामले में सोमवार को जम्मू-कश्मीर के पूर्व मुख्यमंत्री फारूक अब्दुल्ला से पूछताछ की। अधिकारियों ने कहा कि पहले की तरह धनशोधन निवारण अधिनियम (पीएमएलए) के तहत नेशनल कान्फ्रेंस के अध्यक्ष अब्दुल्ला का बयान दर्ज किया जाएगा।

इन लोगों के खिलाफ मामला दर्ज

ईडी ने सीबीआई की प्राथमिकी के आधार पर यह मामला दर्ज किया है। सीबीआई ने जेकेसीए के महासचिव मोहम्मद सलीम खान और पूर्व कोषाध्यक्ष एहसान अहमद मिर्जा समेत कई पदाधिकारियों के खिलाफ मामला दर्ज किया था।

क्या है पूरा मामला ?

सीबीआई ने 2002 से 2011 के बीच भारतीय क्रिकेट नियंत्रण बोर्ड (बीसीसीआई) द्वारा खेल को बढ़ावा देने के लिए जेकेसीए को दिये गए अनुदान में से 43.69 करोड़ रूपये के गबन के मामले में अब्दुल्ला, खान, मिर्जा के अलावा मीर मंजूर गजनफर अली, बशीर अहमद मिसगार और गुलजार अहमद बेग (जेकेसीए के पूर्व अकाउंटेंट) के खिलाफ आरोप पत्र दाखिल किया था।

अब्दुल्ला की सफाई

ईडी ने कहा कि उसकी जांच में सामने आया है कि जेकेसीए (शेष पृष्ठ ८ पर)

को वित्त वर्षों 2005-2006 और 2011-2012 (दिसंबर 2011 तक) के दौरान तीन अलग-अलग बैंक खातों के जरिये बीसीसीआई से 94.06 करोड़ रूपये मिले। फारूक के बेटे उमर अब्दुल्ला ने ट्वीट किया कि नेशनल कान्फ्रेंस जल्द ही ईडी के समनों का जवाब देगी।

उन्होंने ट्वीट किया, यह कुछ और नहीं बल्कि ‘गुपकर घोषणाÓ के तहत ‘पीपुल्स अलायंसÓ के गठन के बाद की जा रही प्रतिशोध की राजनीति है।


Share