ड्रोन-फाइटर जेट को हवा में मार गिराया : आकाश मिसाइल के एडवांस वर्जन का परीक्षण

ड्रोन-फाइटर जेट को हवा में मार गिराया
Share

जैसलमेर (कार्यालय संवाददाता)। जैसलमेर की पोकरण फील्ड फायरिंग रेंज में आकाश मिसाइल के एडवांस वर्जन प्राइम का सफल परीक्षण किया गया। बुधवार को परीक्षण में मिसाइल ने मानव रहित हवाई टारगेट को ट्रैक करके उसे हवा में ही ध्वस्त कर दिया। इस मिसाइल की रेंज आसमान में 30्यरू तक है और यह एक बार में 60 किलोग्राम तक पेलोड ले जा सकती है। आकाश प्राइम का सीधा मुकाबला अमेरिका की बनाई पेट्रियट मिसाइल सिस्टम से है। इसका निशाना पेट्रियट से बेहतर है।

तीन दिन से डीआरडीओ और सेना के अधिकारियों की देखरेख में परीक्षण किया जा रहा है। जमीन से हवा में मार करने वाली आकाश प्राइम मिसाइल में नए एडवांस फीचर जोड़े गए हैं। साथ ही भीषण गर्मी में इसकी मारक क्षमता को भी परखा जा रहा है। यह मिसाइल हवा में भी नियंत्रित की जा सकती है और खुद भी सेंसर्स के जरिए ड्रोन से लेकर फाइटर जेट तक को निशाना बना सकती है।

इस मिसाइल में सिर्फ लक्ष्य को भेदने की क्षमता ही बेहतर नहीं की गई है, बल्कि इसके ग्राउंड लॉन्चर को भी बेहतर नियंत्रण के लिए डिजाइन किया गया है। यह मिसाइल आसमान में 18्यरू की ऊंचाई तक जा सकती है। इसलिए आकाश प्राइम बड़ी ऊंचाइयों पर उड़ रहे फाइटर जेट से लेकर ड्रोन, क्रूज मिसाइल, एयर-टू-सर्फेस मिसाइल और बैलिस्टिक मिसाइलों को भी आसानी से भेदने में सक्षम है।

यह बेसिक आकाश मिसाइल के मुकाबले करीब 10 गुना ज्यादा इलाके को स्कैन कर सकती है। यानी अगर इस मिसाइल ने किसी टारगेट पर लॉक-इन कर लिया, तो लक्ष्य को भेदने तक यह उसका पीछा कर सकती है। पिछले साल सितंबर के महीने में भी इस मिसाइल का ओडिशा के चांदीपुर स्थित इंटीग्रेटेड टेस्ट रेंज में सफल परीक्षण किया गया था। तब मानव रहित हवाई टारगेट को ट्रैक करके उसे हवा में ही ध्वस्त कर दिया। पोकरण में टारगेट किस तरह का था, इसका खुलासा नहीं किया गया है।


Share