कप्तानी मसले पर द्रविड़ के कड़े बोल, कहा- यह टीम इंडिया का अंदरूनी मसला, मीडिया और लोगों के लिए नहीं हैं इससे जुड़ी बातें, कोहली की तारीफ करते हुए बोले कोच : विराट टीम में फिटनेस कल्चर लाए

Dravid's tough words on the captaincy issue, said
Share

सेंचुरियन (एजेंसी)।  भारतीय क्रिकेट टीम इस समय कप्तानी विवाद के बीच साउथ अफ्रीका में है। टीम के हेड कोच राहुल द्रविड़ ने पहले टेस्ट मैच से एक दिन पहले इस बारे में सवाल पूछे जाने पर कड़ा रूख अपनाया है। उन्होंने कहा कि कप्तानी को लेकर कोई भी बातचीत टीम का अंदरूनी मामला है। यह मीडिया या पब्लिक के लिए नहीं है।

कोहली नहीं आए प्रेस कॉन्फ्रेंस में

आम तौर पर किसी टेस्ट सीरीज की पूर्व संध्या पर होने वाले प्रेस कॉन्फ्रेंस में टीम के कप्तान मीडिया के सवालों के जवाब देते हैं। लेकिन, विराट कोहली खुद नहीं आए। उनकी जगह कोच द्रविड़ ने मोर्चा संभाला। द्रविड़ अपने बल्लेबाजी के दिनों में जिस तरह तेज से तेज गेंद को आसानी से छोड़ देते थे, कप्तानी से जुड़े सवाल को भी उन्होंने उसी अंदाज में डक कर दिया। उन्होंने साफ कर दिया कि यह मसला लोगों के लिए नहीं है।

कप्तान चुनना चयनकर्ताओं का काम

द्रविड़ ने कहा कि टीम का कप्तान कौन होगा यह सिलेक्टर्स का काम है। व्हाइट बॉल क्रिकेट में दो अलग कप्तान होने चाहिए या नहीं इस पर मैं कुछ नहीं कहूंगा। द्रविड़ ने कहा कि यह कप्तानी मसले पर बात करने के लिए उचित जगह और समय नहीं है। टीम में अंदर जो बात होती है उसे मैं किसी भी हाल में सार्वजनिक नहीं करूंगा।

कोहली के मुरीद द्रविड़,  विराट टीम में फिटनेस कल्चर लाए

द्रविड़ ने विराट की तारीफ की और कहा, कोहली ने टीम के अंदर फिटनेस और ऊर्जा का नया स्तर बनाया है। जब विराट ने डेब्यू किया था, तब मैं वहां था। उनके पहले मैच में मैंने उनके साथ बल्लेबाजी की थी। वो पिछले साल 10 साल में एक क्रिकेटर के रूप में जिस तरीके से आगे बढ़े हैं, वह शानदार है।

उन्होंने जिस तरह का प्रदर्शन किया है, जिस तरह से उन्होंने टीम का नेतृत्व किया है, वह काबिले तारीफ है। वे लगातार आगे बढ़ते रहे हैं और खुद को और बेहतर करने के लिए मेहनत करते हैं। द्रविड़ ने कहा है कि विराट कोहली टीम इंडिया में फिटनेस कल्चर लेकर आए हैं। अब खिलाडिय़ों के इंजर्ड होने से टीम पर ज्यादा फर्क नहीं पड़ता है, क्योंकि हमारी बेंच स्ट्रेंथ काफी मजबूत हो चुकी है। कई बार हमें प्लेइंग इलेवन के लिए भी कड़े फैसले लेने पड़ते हैं और हर खिलाड़ी इस बात को समझता है।

पुजारा-रहाणे के लिए होंगे कड़े फैसले ?

द्रविड़ ने प्रेस कॉन्फ्रेंस में टीम इंडिया के सीनियर बल्लेबाजों को लेकर एक अहम बात कही है। राहुल द्रविड़ ने चेतेश्वर पुजारा और अजिंक्य रहाणे को लेकर कहा कि दक्षिण अफ्रीका दौरे में उनके पास भी टीम के लिए अपना अपना योगदान करने का मौका होगा। न्यूजीलैंड के खिलाफ घरेलू सीरीज के बाद दोनों बल्लेबाजों के प्रदर्शन को लेकर कई सवाल खड़े हुए थे। जब उनसे पूछा गया कि एक बड़े दौरे में क्या किसी ऐसे खिलाड़ी को निकालना आसान होता है जो अच्छा प्रदर्शन न कर रहा हो। इस सवाल पर भारतीय टीम के कोच राहुल द्रविड़ ने कहा, मुझे हमेशा से लगता है कि यह दौरा उनके लिए भी एक बड़ा मौका है, चाहे आपने अपना बेस्ट किया हो या नहीं, यह सभी खिलाडिय़ों को अपने प्रदर्शन को अच्छा करने का मौका है। आप बतौर बल्लेबाज हमेशा से मुश्किल विकेटों पर अच्छा प्रदर्शन करना चाहते हैं, इसी वजह से लोग आपको याद भी करते हैं।


Share