घरेलू सिलेंडर 25 – कॉमर्शियल 75 रू. महंगा- अब 888.50 रू. का मिलेगा एलपीजी

घरेलू सिलेंडर 25 - कॉमर्शियल 75 रू. महंगा- अब 888.50 रू. का मिलेगा एलपीजी
Share

जयपुर (कार्यालय संवाददाता)।  देश में महंगाई कम होने का नाम नहीं ले रही। पेट्रोलियम कंपनियों ने बुधवार को फिर रसोई गैस की कीमतों में इजाफा करके लोगों को बड़ा झटका दिया है। 15 दिन के अंदर ये दूसरी बार रसोई गैस की कीमतें बढ़ी हैं। कंपनियों ने बुधवार को रसोई गैस की कीमतों में 25 रू. प्रति सिलेंडर, जबकि कॉमर्शियल उपयोग के सिलेंडर की कीमतों में 75 रू. की बढ़ोतरी की है। इस बढ़ोतरी के बाद रसोई गैस 863.50 रू. की जगह 888.50 रू. में मिलेगी, जबकि कॉमर्शियल सिलेंडर 1640 रू. के स्थान पर 1715 रू. में मिलेगा।

साल 2021 के शुरूआत से लेकर अब तक रसोई गैस की कीमतों में यह 7वीं बार बढ़ोतरी की है। इससे पहले 16 अगस्त को भी कंपनियों ने 25 रू. घरेलू सिलेंडर की कीमतों में बढ़ाए थे। वहीं एक जुलाई को भी कंपनियों ने रसोई गैस की कीमतों में 25.50 रू. प्रति सिलेंडर बढ़ाए थे। कोरोना के इस दौर में जहां एक तरफ लोगों के रोजगार ठप पड़े हैं, नौकरियों पर संकट है, ऐसी स्थितियों में पेट्रोल-डीजल, रसोई गैस, बिजली के बिल, खाद्य पदार्थ (कुकिंग ऑयल, आटा, दाल, दूध) इत्यादि वस्तुओं की कीमतें लगातार बढ़ रही है। निम्न और मध्यम तबके के लोगों के लिए परेशानी खड़ी हो गई है।

लॉकडाउन में 306 रू. महंगा हुआ सिलेंडर

केन्द्र सरकार ने अप्रैल 2020 में लॉकडाउन लगने के बाद रसोई गैस पर दी जाने वाली सब्सिडी को भी बंद कर दिया है। अप्रैल 2020 तक लोगों को रसोई गैस पर 147 रू. की सब्सिडी मिलती थी, लेकिन मई 2020 के बाद से अब तक एक रू. की भी सब्सिडी नहीं दी जा रही। मई 2020 से लेकर आज तक साढ़े 15 महीने के अंदर 306 रू. प्रति सिलेंडर तक बढ़ गए हैं।


Share