धोनी अगले साल भी करेंगे चेन्नई की कप्तानी

Dhoni will captain Chennai next year also
Share

चेन्नई (एजेंसी)। आईपीएल के गत विजेता चेन्नई सुपर ङ्क्षकग्स और उनके समर्थकों के लिए एक बड़ी $खुशी की बात है कि महेंद्र ङ्क्षसह धोनी एक बार फिर अगले साल चार बार विजयी रह चुकी टीम में दिखेंगे। यही नहीं 41 वर्षीय धोनी इस फ्रेंचाइजी की कप्तानी भी करते दिखेंगे।

2022 का सीजन चेन्नई के लिए निराशाजनक रहा है और वह प्लेऑफ की दौड़ से बाहर होने वाली दूसरी टीम है। ईएसपीएनक्रिकइंफ़ो को पता चला है कि धोनी ने टीम प्रबंधन से अगले साल उपलब्ध होने की बात की है और यह भी बताया है कि वह कप्तानी करेंगे। साथ ही कप्तानी छोडऩे के बाद चोटिल होने के बाद इस सीजन से बाहर हुए हरफनमौला रवींद्र जडेजा भी 2023 आईपीएल के लिए टीम में लौटेंगे। उनके बाहर जाने के तरीके से अफवाहों का बाजार गर्म हो गया था।

सीजन के शुरूआत में चेन्नई ने जिन चार खिलाड़यिों को रिटेन किया था उनमें ये दोनों सबसे प्रमुख थे। जहां जडेजा को 16 करोड़ रूपयों की राशि में सबसे पहले टीम में रखा गया था तो वहीं धोनी 14 करोड़ के साथ दूसरे नंबर के पिक थे।

इस सीजन के नौवें मैच से पहले जडेजा ने कप्तानी त्यागने का फैसला किया था और सनराइजर्स हैदराबाद के खिलाफ धोनी पुन: चेन्नई के लिए टॉस में दिखे थे। जब डैनी मॉरिसन ने उनसे पूछा कि क्या वह अगले सीजन फिर से चेन्नई की पीली जर्सी में खेलते दिखेंगे तो उन्होंने कहा था, आप मुझे जरूर पीली जर्सी में देखेंगे लेकिन यह वाली या कोई और इसके लिए आपको इंतजार करना पड़ेगा। जडेजा के कप्तानी से हटने और फिर टीम से हट जाने पर चेन्नई की दीर्घावधि में कप्तानी के विकल्पों पर काफी बातचीत होती रही है। धोनी ने खुद जडेजा के बचाव में हैदराबाद के साथ मैच के बाद कहा था, जब आप कप्तान बन जाते हो, तो कई चीजें आपके दिमाग को प्रभावित करती हैं। मुझे लगता है कि कप्तानी से उनकी तैयारी और प्रदर्शन प्रभावित हुआ। एक खिलाड़ी से कप्तान बनना एक धीमी प्रक्रिया होती है। आपको मैच के महत्वपूर्ण क्षणों में अपनी जिम्मेदारी लेते हुए कुछ महत्वपूर्ण निर्णय लेने होते हैं। जब आप कप्तान बन जाते हैं तो आपको अपने खेल के अलावा भी कई चीजों पर ध्यान देना होता है। जडेजा इतना दबाव ले रहे थे कि उनसे कैच छूटने लगे थे। अमूमन ऐसा नहीं होता है।

पिछले साल अक्तूबर में आईपीएल खिताब जीतने के बाद चेन्नई के मालिक एन श्रीनिवासन ने कहा था कि धोनी चेन्नई का ही नहीं पूरे तमिलनाडु का ‘अभिन्न हिस्साÓ हैं और रहेंगे। उन्होंने कहा था, धोनी के बिना कोई सीएसके नहीं और सीएसके के बिना कोई धोनी नहीं।

उसके एक महीने बाद जब टीम का सम्मान समोराह आयोजित किया गया था तब उन्होंने कहा था, लोग उन्हें परेशान करते रहते हैं कि क्या आप खेलना जारी रखेंगे? अरे वह हमारे साथ ही हैं और कहीं नहीं जा रहे। ऐसे में मैं खुश हूं कि जब उनसे पूछा जाता है कि आप क्या उत्तरदान छोड़ कर जा रहे हैं तो उनका जवाब हमेशा होता है,’मैं कहीं गया ही नहीं।


Share