31 अगस्त से हवाई किराए से लिमिट हटाने का फैसला

जेट विमान में उड़ान के बाद धुंआ उठने से वापस लौटा
Share

नई दिल्ली (एजेंसी)। घरेलू हवाई किराए पर लगाई गई सीमा लगभग 27 महीने के अंतराल के बाद 31 अगस्त से हटा दी जाएगी। केंद्रीय उड्डयन मंत्रालय ने बुधवार यह जानकारी दी। उड्डयन मंत्री ज्योतिरादित्य सिंधिया ने ट्वीट किया, ”हवाई किराए की सीमा को हटाने का फैसला दैनिक मांग और विमान ईंधन (एटीएफ) की कीमतों के सावधानीपूर्वक विश्लेषण के बाद लिया गया है। स्थिरता आने लगी है और हमें भरोसा है कि यह क्षेत्र निकट भविष्य में घरेलू यातायात में वृद्धि के लिए तैयार है।” उड्डयन मंत्रालय ने बुधवार को एक आदेश में कहा कि घरेलू परिचालन की वर्तमान स्थिति की समीक्षा करने के बाद किराए की सीमा को 31 अगस्त 2022 से खत्म करने का फैसला किया गया। रूस-यूक्रेन युद्ध के कारण रिकॉर्ड स्तर तक पहुंचने के बाद एटीएफ की कीमतें पिछले कुछ हफ्तों के दौरान नीचे आई हैं। दिल्ली में एटीएफ की कीमत एक अगस्त को 1।21 लाख रुपये प्रति किलोलीटर थी, जो पिछले महीने की तुलना में करीब 14 फीसदी कम है।

2020 में लगाई गई थी सीमा

कोविड-19 महामारी के कारण दो महीने के लॉकडाउन के बाद 25 मई, 2020 को विमान सेवाएं फिर शुरू होने पर मंत्रालय ने उड़ान की अवधि के आधार पर घरेलू हवाई किराए पर निचली और ऊपरी सीमा लगा दी थी। इसके तहत एयरलाइंस किसी यात्री से 40 मिनट से कम की घरेलू उड़ानों के लिए 2900 रुपये से कम और 8800 रुपये से अधिक किराया नहीं ले सकती हैं।

सस्ते भी मिल सकते हैं टिकट : दरअसल, सीमा हटाए जाने के बाद बहुत जल्दी टिकट बुक करने वाले लोगों को काफी कम किराया चुकाना पड़ सकता है। क्योंकि फ्लाइट फुल करने के लिए एयरलाइन्स काफी पहले से ऑफर देना शुरू कर देती हैं। हालांकि, एक समय सीमा के बाद ये छूट खत्म होती है और डायनेमिक फेयर लागू हो जाता है।

एविएशन सेक्टर में तेजी : लॉकडाउन के चलते एविएशन सेक्टर को भी नुकसान झेलना पड़ा था। इस महामारी ने विदेशी विमान से लेकर डोमेस्टिक फ्लाइट तक के बंद हो जाने से देश के एविएशन सेक्टर को लगभग तबाह कर दिया था। लेकिन अब यह क्षेत्र रिकवरी कर रहा है और खासकर हवाई यात्रियों की संख्या के मामले में तेजी आई है। धीरे-धीरे विमान कंपनियां भी इस नुकसान से उबार रही है। इसके बाद विमान कंपनियां अपनी मर्जी से किराया तय कर सकेंगी मई 2020 में सरकार ने हवाई यात्रा के किराए पर सीमा लगा दी थी


Share