दिल्ली टीम में मार्श समेत पांच लोगों के संक्रमित पाए जाने के बाद फैसला – आज पुणे की जगह मुंबई में होगा दिल्ली और पंजाब का मैच

कोरोना वायरस स्पर्श से नहीं फैलता, नए शोध के दावे
Share

मुंबई (कार्यालय संवाददाता)। आईपीएल 2022 में कोरोना का अटैक हो चुका है। सोमवार को दिल्ली कैपिटल्स के खिलाड़ी मिचेल मार्श कोरोना संक्रमित पाए गए थे। इसके अलावा टीम के फीजियो पैट्रिक फारहार्ट और टीम डॉक्टर साल्वी भी कोरोना पॉजिटिव मिले। इसके बाद बुधवार को होने वाले दिल्ली कैपिटल्स बनाम पंजाब किंग्स मैच पर खतरे का साया मडंराने लगा था। यह मैच पहले पुणे के महाराष्ट्र क्रिकेट स्टेडियम में होना था, लेकिन अब यह मैच मुंबई के ब्रेबोर्न स्टेडियम में ही कराया जाएगा। बीसीसीआई ने खुद प्रेस रिलीज जारी कर यह जानकारी दी है।

दिल्ली की टीम फिलहाल मुंबई में ही है और उसे सोमवार को ही पुणे के लिए रवाना होना था, लेकिन कोरोना के मामले सामने आने के बाद खिलाडिय़ों और स्टाफ को होटल में अपने कमरे में ही रहने के निर्देश दिए गए थे। साथ ही सोमवार को सबकी दो बार आरटी-पीसीआर टेस्ट भी की गई। पहले टेस्ट में मार्श की रिपोर्ट निगेटिव आई, लेकिन दूसरे आरटी-पीसीआर टेस्ट में वह संक्रमित पाए गए।

उनके अलावा स्पोर्ट्स मसाज थेरेपिस्ट चेतन कुमार, टीम डॉक्टर अभिजीत साल्वी, सोशल मीडिया कंटेंट टीम मेंबर अकाश माने भी कोरोना संक्रमित मिले। बताया जा रहा है कि ये सभी फीजियो पैट्रिक फारहार्ट के संपर्क में आए थे, जो 15 अप्रैल को कोरोना पॉजिटिव मिले थे। वहीं, चेतन 16 अप्रैल को संक्रमित पाए गए। मार्श समेत बाकी लोग 18 अप्रैल को कोरोना पॉजिटिव पाए गए।

16 अप्रैल के बाद से दिल्ली टीम के सभी खिलाडिय़ों और स्टाफ की हर रोज जांच की जा रही है। सभी की आरटी-पीसीआर टेस्टिंग की जा रही है। 19 अप्रैल को हुए चौथे राउंड की जांच में बाकी बचे खिलाडिय़ों और स्टाफ की रिपोर्ट निगेटिव आई। इससे तय हो गया कि यह मैच स्थगित नहीं किया जाएगा और मुंबई में ही मैच होगा। 20 अप्रैल को मैच से पहले एक बार फिर सभी खिलाडिय़ों और स्टाफ की जांच होगी।

जाने यह सारा मामला कहां से शुरू हुआ-

सबसे पहले दिल्ली कैपिटल्स टीम के फीजियो पैट्रिक फारहार्ट कोरोना पॉजिटिव पाए गए थे। तब से वह आइसोलेशन में हैं।

सोमवार को मीडिया रिपोर्ट्स में ये बात सामने आई थी कि दिल्ली कैपिटल्स से खेल रहे ऑस्ट्रेलियाई ऑलराउंडर में कोरोना के लक्षण दिखे थे।

इसके बाद रैपिड एंटीजेन टेस्ट में वह खिलाड़ी पॉजिटिव पाया गया। हालांकि, उस ऑस्ट्रेलियाई ऑलराउंडर के नाम का खुलासा नहीं किया गया था।

दिल्ली की टीम में सिर्फ एक ही ऑस्ट्रेलियाई ऑलराउंडर, मिचेल मार्श के रूप में मौजूद है। मार्श हाल ही में पाकिस्तान के दौरे से भारत आए थे।

मीडिया रिपोर्ट्स में बताया गया कि मार्श फीजियो फारहार्ट के संपर्क में आए थे, जिसकी वजह से उनमें कोरोना के लक्षण पाए गए। सुरक्षा के लिहाज से मार्श को अस्पताल में भर्ती करा दिया गया।

दिल्ली की टीम सोमवार को ही पुणे रवाना होने वाली थी, जहां उन्हें बुधवार को पंजाब के खिलाफ मैच खेलना था।

मार्श का मामला सामने आने के बाद सभी खिलाडिय़ों और स्टाफ को क्वारंटीन होने और अपने कमरे से बाहर न निकलने के निर्देश दिए गए।

इसके बाद सभी खिलाडिय़ों और स्टाफ मेंबर्स की आरटी-पीसीआर जांच की गई।

फारहार्ट के पॉजिटिव आने के बाद बैंगलोर के खिलाफ दिल्ली के खिलाडिय़ों को हाथ मिलाने से रोका गया था।

बीसीसीआई के कोरोना प्रोटोकॉल के मुताबिक, बायो-बबल में मौजूद सभी खिलाडिय़ों और स्टाफ की हर पांचवें दिन जांच की जा रही है। पिछले साल हर तीसरे दिन जांच होती थी।

हालांकि, फ्रेंचाइजियों को भी छूट दी गई है कि अगर वह अपने खिलाडिय़ों की हर रोज जांच करवाना चाहते हैं, तो वे ऐसा करवा सकते हैं। भारत में भी पिछले कुछ दिनों में कोरोना के मामले बढ़े हैं।


Share