विधानसभा में गतिरोध बरकरार, सदन की कार्यवाही सोमवार तक के लिए स्थगित की

Deadlock continues in the assembly, the proceedings of the house adjourned till Monday
Share

जयपुर (कार्यालय संवाददाता)। विधानसभा में गतिरोध बरकरार है। भाजपा 4 विधायकों का निलंबन रद्द करने की मांग पर अड़ी है। भाजपा विधायकों का सदन में हंगामा जारी रहा। विधानसभा अध्यक्ष सीपी जोशी ने विधानसभा की कार्यवाही सोमवार तक के लिए स्थगित कर दी गई है। स्पीकर जोशी ने अपने चैंबर में सत्ता और विपक्ष के नेताओं के साथ मंथन किया, लेकिन उसका कोई नतीजा नहीं निकला। विधानसभा सत्र का शुक्रवार को तीसरा दिन है। रीट पेपर लीक मामले की सीबीआई जांच करने और 4 विधायकों के निलंबन रद्द करने की मांग को लेकर भाजपा विधायकों ने जमकर हंगामा किया।  इससे पहले स्पीकर जोशी की समझाइश के बाद नेता प्रतिपक्ष कटारिया ने कहा कि पहले पुलिस के हवाले पेपर की सुरक्षा थी लेकिन अब प्राइवेट लोगों को क्यों लगाया गया। शिक्षा संकुल में ही यह सारी घटनाएं कैस हुई। जब बाड़ ही खेत को खा जाए तो फिर कैसे हो गया। रीट पेपर लीक मामले की जांच ऊपर तक होनी चाहिए।

संसदीय कार्यमंत्री बोले- दिल्ली के इशारे पर ये सब हो रहा : संसदीय कार्यमंत्री शांति धारीवाल ने जवाब में कहा कि भाजपा के समय सीबीआई को जांच दी गई क्या? आपके काले कारनामे सामने लाएंगे?आप दिल्ली के इशारे पर ये सब कर रहे हो? कटारिया जी आप सम्मानीय व्यक्ति है। सत्य का साथ दीजिए। शून्यकाल में स्पीकर डॉ. सीपी जोशी की समझाइश भी बेअसर रही। प्रश्नकाल के बाद नेता प्रतिपक्ष गुलाबचंद कटारिया ने रीट परीक्षा और नियुक्ति प्रक्रिया के साथ ही जांच की प्रक्रिया अलग रखते हुए कार्रवाई करने की  की तो मंत्री शांति धारीवाल ने कहा कि सरकार इस मामले में जवाब देने को तैयार हैं। लेकिन राठौड़ ने भाजपा विधायकों के निलंबन रद्द न होने तक भाजपा का विरोध जारी रखने की बात कही।

कटारिया बोले- मंत्रियों पर भी कार्रवाई हो : नेता प्रतिपक्ष गुलाबचंद कटारिया और उप नेता राजेन्द्र राठौड़ ने कहा कि भाजपा के 4 विधायकों का इस सत्र के लिए निलंबन किया गया। लेकिन यूट्यूब का लिंक उठाकर यदि चेक किया जाएगा तो यह भी साफ हो जाएगा कि कांग्रेस के सदस्य और मंत्रियों ने भी जिस प्रकार के शब्दों का इस्तेमाल किया वो सदन की गरिमा के अनुरूप नहीं था। दोनों ही नेताओं ने कहा कि आसन को चाहिए कि विजुअल देखकर कांग्रेस के उन मंत्रियों के खिलाफ भी कार्रवाई हो। एक तरफा केवल भाजपा विधायकों को ही प्रताडि़त करने का काम न हो। कटारिया ने कहा कि भाजपा केवल यही चाहती है कि इस प्रकरण में जो दोषी लोग हैं उन तक पहुंच कर सख्त से सख्त कार्रवाई हो।


Share