बिलखते हुए कन्हैयालाल की पत्नी बोली- ‘आरोपियों को फांसी दो, कल किसी और को मार देगा’

बिलखते हुए कन्हैयालाल की पत्नी बोली- 'आरोपियों को फांसी दो, कल किसी और को मार देगा’
Share

उदयपुर (कार्यालय संवाददाता)। उदयपुर हत्याकांड में जान गंवाने वाले कन्हैयालाल साहू के अंतिम संस्कार में भारी संख्या में लोग जुटे। भारी पुलिस सुरक्षा के बीच कन्हैयालाल के अंतिम संस्कार का इंतजाम किया गया। कन्हैयालाल का शव निकलने के दौरान उनकी पत्नी ओर परिजनों का रो-रोकर बुरा हाल दिखा। कन्हैयालाल साहू की पत्नी ने कहा, आरोपियों को फांसी दो, आज उसने हमें मारा है, कल दूसरों को मारेगा। कन्हैयालाल की भांजी ने कहा कि हमारे घर से मामाजी को आज मारा गया है, कल किसी और के घर से मारा जाएगा। इसलिए आरोपी को हर हाल में फांसी की सजा होनी चाहिए। एक अन्य परिजन ने बातचीत में कहा कि अगर आरोपी को तत्काल सख्त सजा नहीं मिली तो लोगों की हिम्मत बढ़ जाएगी। आरोपी को ऐसी सजा दी जाए जिसके बाद किसी की हिम्मत ना हो कि वह ऐसी वारदात को अंजाम दे।

कन्हैयालाल की पत्नी यशोदा ने बताया कि 10-15 दिनों से धमकी दिया जा रहा था। मार देंगे-काट देंगे की धमकी लगातार मिल रही थी। धमकी देने वाले घर और दुकान दोनों जगह आते थे। उन्होंने बातया कि धमकी देने वाले ज्यादातर दुकान पर ही आते थे। फोन पर भी धमकी देते थे। एक बार दुकान पर एक औरत और पुरूष मुस्लिम लिबास में भी धमकी देने आए थे। यशोदा ने बताया कि कन्हैयालाल ज्यादा बातें घर में जिक्र नहीं करते थे। एक बार घर पर एक जेंट्स आया और धमकी देकर गया कि मार देंगे-काट देंगे। कन्हैयालाल की पत्नी ने कहा कि अशोक गहलोत जी और प्र.म. नरेंद्र मोदी जी हमारे पति को मारने वाले को मारो, तभी ये लोग सुधरेंगे। पुलिस वाले से कंप्लेन के बाद उन्होंने दुकान खोली थी। दुकान पर दो लोग राजीव और ईश्वर जी काम करते थे। परिवार में कन्हैयालाल अकेले कमाने वाले थे। परिवार में ननद, सास और बच्चे हैं। दोनों बच्चे अभी पढ़ रहे हैं। उन्होंने बताया कि उनकी शादी को 21-22 साल हो गए हैं। कन्हैयालाल पिछले 10 साल से दुकान चला रहे थे।


Share