देश को 2 नई कोरोना वैक्सीन मिलीं, कोर्बेवैक्स और कोवोवैक्स के इमरजेंसी यूज को मंजूरी, एंटी-वायरल ड्रग मोलनुपिराविर को भी हरी झंडी

Country got 2 new corona vaccines, emergency use of Corbevax and Kovovax approved
Share

नई दिल्ली (एजेंसी)। ओमिक्रॉन के बढ़ते खतरे के बीच स्वास्थ्य मंत्रालय ने कोरोना की 2 नई वैक्सीन और एक एंटी-वायरल ड्रग्स के इमरजेंसी इस्तेमाल को मंजूरी दे दी है। स्वास्थ्य मंत्री मनसुख मांडविया ने इस फैसले पर देश को बधाई दी है। स्वास्थ्य मंत्रालय ने दो वैक्सीन कोर्बेवैक्स, कोवोवैक्स और एंटी-वायरल ड्रग मोलनुपिराविर के इमरजेंसी यूज की मंजूरी दी है। मांडविया ने ट्वीट करके बताया कि कोर्बेवैक्स भारत में बनी पहली ‘आरबीडी प्रोटीन सब-यूनिट वैक्सीन’ है। इसे हैदराबाद स्थित फर्म बायोलॉजिकल-ई ने तैयार किया है। उन्होंने कहा कि यह हैट्रिक है। कोरोना की अब तक तीन वैक्सीन भारत में बनाई जा चुकी हैं। दो अन्य टीके जो भारत में बने हैं, उनमें भारत बायोटेक की कोवैक्सीन और सीरम इंस्टीट्यूट ऑफ इंडिया (एसआईआई) की कोवीशील्ड शामिल है।

‘हमारी फार्मा इंडस्ट्री दुनिया के लिए संपत्ति’

मंडाविया ने कहा, प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कोरोना के खिलाफ लड़ाई का नेतृत्व सामने आकर किया है। इन सभी मंजूरियों से कोरोना महामारी के खिलाफ वैश्विक लड़ाई को और मजबूती मिलेगी। हमारी फार्मा इंडस्ट्री दुनिया के लिए संपत्ति है। सर्वे भवन्तु सुख: सेवा सन्तु निरमया:।

कोरोना के गंभीर मरीजों पर मोलनुपिराविर का इस्तेमाल होगा : नैनोपार्टिकल वैक्सीन कोवेवैक्स का निर्माण पुणे स्थित एसआईआई की ओर से किया जाएगा। वहीं, एंटी-वारयल ड्रग मोलनुपिराविर को देश में 13 कंपनियां बनाएंगी। कोविड के गंभीर एडल्ट मरीजों में इमरजेंसी के हालात में इस ड्रग का इस्तेमाल होगा।

देश में अब तक 8 वैक्सीन्स को इमरजेंसी यूज की मंजूरी मिली : भारत में अब तक कोरोना की 8 वैक्सीन्स को ड्रग रेगुलेटर की ओर से इमरजेंसी यूज की मंजूरी मिल चुकी है। इनमें कोवीशील्ड, कोवैक्सीन, कोवि-डी, स्पूतनिक वी, मॉडर्ना, जॉनसन एंड जॉनसन, कोर्बेवैक्स और कोवोवैक्स शामिल हैं।


Share