रामदेवरा जाने वाले पैदल यात्रियों के लिए बनेगा कॉरिडोर, 5 की मौत के बाद अब ओवर-स्पीड वाहनों के खिलाफ अभियान चलाने का फैसला

रामदेवरा जाने वाले पैदल यात्रियों के लिए बनेगा कॉरिडोर, 5 की मौत के बाद अब ओवर-स्पीड वाहनों के खिलाफ अभियान चलाने का फैसला
Share

जयपुर (कार्यालय संवाददाता)। रामदेवरा जाने वाले पैदल यात्रियों की सुरक्षा के लिए अब सरकार ने सभी जिलों के कलेक्टर-एसपी को हिदायत दी है। पाली के रोहट में हुए हादसे में 5 पैदल यात्रियों की दर्दनाक मौत के बाद मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने रामदेवरा पैदल यात्रियों की सुरक्षा को लेकर की गई रिव्यू बैठक में कई फैसले किए। बैठक में ओवर स्पीड वाहनों के खिलाफ अभियान चलाने और रामदेवरा मेले में जा रहे पैदल यात्रियों की सुरक्षा के लिए कॉरिडोर्स बनाने का फैसला किया है। सीएम ने यात्रियों के लिए स्थानीय स्तर पर सेफ कॉरिडोर बनाने के आदेश दिए हैं।  सीएम ने श्रद्धालुओं की ज्यादा आवाजाही वाले जिलों में प्रशासन को विशेष अभियान चलाकर शराब पीकर गाड़ी चलाने वाले और ओवरस्पीडिंग करने वालों पर कार्रवाई करने को कहा है। इसके लिए मोबाइल यूनिट और नाके लगाए जाएंगे। पैदल यात्रियों को अधिक से अधिक रेडियम टेप व रिबन बांटने के निर्देश दिए गए हैं। रात में सड़क पर चलने वाले पैदल यात्रियों को रेडियम टेप बांटे जाएंगे, बैग पर या हाथ पर रेडियम टेप लगाने से दूर से ही उनके बारे में पता लग जाएगा और एक्सीडेंट की संभावना कम हो जाएगी।

पैदल यात्रियों के कैंप सड़क से दूर लगाए जाएंगे

बैठक में सीएम ने कहा कि ओवरस्पीडिंग पर काबू पाने के लिए सड़कों पर अस्थाई स्पीड ब्रेकर बनाए जाएं और स्पीड-लिमिट के साइनबोर्ड भी लगाए जाएं। यात्रा के दौरान मेडिकल इमरजेंसी से निपटने के लिए एंबुलेंस की व्यवस्था की जाए। थोड़ी-थोड़ी दूरी पर सहायता कैम्प्स के माध्यम से प्रशासन सुरक्षित पैदल यात्रा के लिए श्रद्धालुओं के लिए लाउड स्पीकर पर जरूरी सावधानियों का प्रचार किया जाए। पैदल यात्रियों के कैंप सड़क के किनारे से कुछ दूरी पर बनाए जाएं जिससे एक्सीडेंट का खतरा कम हो।

कावड़ यात्रा की तर्ज पर रामदेवरा मेले के यात्रियों का मैनेजमेंट : मुख्यमंत्री ने कहा कि प्रशासन ने हाल ही में कावड़ यात्राओं का शानदार प्रबंधन किया गया है, जिससे बिना किसी अप्रिय घटना के कावड़ यात्राओं का आयोजन पूरा हुआ। कावड़ यात्राओं की तर्ज पर ही रामदेवरा मेले की व्यवस्थाएं भी कीजाएं जिससे श्रद्धालुओं को सुरक्षित आवाजाही हो सके। सीएम ने अफसरों से कहा कि यह त्यौहारों और मेलों का समय है। रामदेवरा मेले में प्रदेशभर से और पड़ोसी राज्यों से बड़ी संख्या में श्रद्धालु आते हैं। पिछले दो साल कोरोना की वजह से मेले स्थगित रहने से इस बार भीड़ ज्यादा है।


Share