कोरोना का कहर : एक्शन में मोदी – 17 को मुख्यमंत्रियों संग बैठक

मोदी ने कोसी महासेतु समेत 12 रेल परियोजनाएं बिहार को सौंपी
Share

नई दिल्ली (एजेंसी)। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी मुख्यमंत्रियों के साथ बढ़ते कोविड के खतरे और कोरोना वैक्सीन पर वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिये चर्चा करेंगे। प्रधानमंत्री मोदी 17 मार्च को दोपहर साढ़े 12 बजे मुख्यमंत्रियों के साथ वीडियो कांफ्रेंसिंग के जरिए बैठक करेंगे। बता दें देश में कोरोना वायरस के मामलों में तेजी से इजाफा हो रहा है। महाराष्ट्र में कोरोना वायरस का प्रकोप एक बार फिर तेजी से गहराता जा रहा है ऐसे में प्र.म. मोदी की मुख्यमंत्रियों के साथ होने जा रही यह बैठक बेहद अहम होने वाली है। कोरोना के प्रकोप के अलावा प्र.म. मोदी देश में टीकाकरण शुरू होने के बाद पहली बार मुख्यमंत्रियों के साथ बातचीत करने जा रहे हैं। ऐसे में प्रधानमंत्री राज्यों के टीकाकरण की प्रगति और इसमें आने वाली दिक्कतों की भी समीक्षा करेंगे।

पेट्रोल-डीजल को जीएसटी के तहत लाने का कोई प्रस्ताव नहीं

नई दिल्ली (एजेंसी)। पेट्रोल, डीजल, एटीएफ, एलपीजी की कीमत कम होने की आस लगाए लोगों को झटका लगा है। वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने सोमवार को कहा कि जीएसटी के तहत कच्चा तेल, पेट्रोल, डीजल, जेट ईंधन (एटीएफ) और प्राकृतिक गैस लाने का अभी कोई प्रस्ताव नहीं है। गौरतलब है कि कई विशेषज्ञों के मुताबिक अगर पेट्रोल-डीजल जीएसटी के दायरे में आते तो इनके दाम बेहद कम हो जाते। बता दें 1 जुलाई, 2017 को जब जीएसटी लागू किया गया था, तो कच्चे तेल, प्राकृतिक गैस, पेट्रोल, डीजल और विमानन टरबाइन ईंधन (एटीएफ) को जीएसटी के दायरे से बाहर रखा गया था।  केंद्र सरकार उन पर उत्पाद शुल्क लगाती रही, जबकि राज्य सरकारें वैट वसूलती हैं। उत्पाद शुल्क के साथ-साथ वैट में बढ़ोतरी होती गई। वहीं वैश्विक स्तर पर तेल की कीमतों में बढ़ोतरी ने पेट्रोल और डीजल को ऑल टाइम हाई पर पहुंचा दिया है, यही वजह है कि इन्हें जीएसटी के तहत लाने की मांग उठ रही है। वित्त मंत्री ने लोकसभा में एक प्रश्न के लिखित उत्तर में कहा, फिलहाल, कच्चे पेट्रोलियम, पेट्रोल, डीजल, एटीएफ और प्राकृतिक गैस को जीएसटी के तहत लाने का कोई प्रस्ताव नहीं है। उन्होंने कहा कि काउंसिल एक समुचित समय पर इन पेट्रोलियम उत्पादों को शामिल करने पर विचार कर सकती है लेकिन उससे पहले वह उससे होने वाले राजस्व के असर सहित विभिन्न सबंद्ध मुद्दों को भी ध्यान में रखेगी।

मुठभेड़ में जैश का शीर्ष कमांडर ढेर

श्रीनगर (एजेंसी)। जम्मू-कश्मीर के शोपियां में सोमवार को सुरक्षा बलों के तलाश एवं घेराबंदी अभियान (कासो) के दौरान हुई मुठभेड़ में जैश-ए-मोहम्मद का एक शीर्ष कमांडर मारा गया। इससे पहले रविवार को भी शोपियां में सुरक्षा बलों के कासो के दौरान शुरू हुई मुठभेड़ में  लश्कर-ए-तैयबा का एक स्थानीय आतंकवादी मारा गया। तलाश एवं घेराबंदी अभियान शनिवार रात को शुरू की गई थी। कश्मीर रेंज के पुलिस महानिरीक्षक विजय कुमार ने शोपियां में मुठभेड़ के दौरान जैश-ए-मोहम्मद के शीर्ष कमांडर सज्जाद अफगानी के मारे जाने पर सुरक्षा बलों को बधाई दी है। शोपियां में अफवाहों को फैलने से रोकने के लिए एहतियात के तौर पर शनिवार रात से ही मोबाइल इंटरनेट सेवा बंद कर दी गई थी। इस बीच शनिवार रात मुठभेड़ स्थल के पास हुई झड़प में तीन युवक और एक पुलिस कांस्टेबल घायल हो गये। रविवार को सुरक्षा बलों ने मुठभेड़ स्थल के पास पथराव कर रहे प्रदर्शनकारियों को तितर-बितर करने के लिए पैलेट, आंसू गैस के गोले दागे और लाठीचार्ज भी किया।


Share