दुनिया भर में 23 लाख लोगों को लग चुकी है कोरोना वैक्सीन

दुनिया भर में 23 लाख लोगों को लग चुकी है कोरोना वैक्सीन
Share

राहुल ने पूछा- मोदी जी, भारत का नंबर कब आएगा

नई दिल्ली (एजेंसी)। अमेरिका, रूस, यूके, चीन समेत कई देशों में कोरोना वैक्सीन को इमर्जेंसी अप्रूवल मिल गया है और लोगों पर इसका इस्तेमाल भी हो रहा है। भारत में अगले महीने तक टीका उपलब्ध होने की उम्मीद है। कोरोना वैक्सीन को लेकर राहुल गांधी ने मोदी सरकार पर हमला बोला है। राहुल गांधी ने कहा कि दुनिया में 23 लाख लोगों तक कोरोना वैक्सीन पहुंच चुकी है। चीन, यूएस, यूके और रूस ने शुरूआत कर दी है, भारत का नंबर कब आएगा मोदी जी?

भारत में कई वैक्सीन को डिवेलप करने का काम चल रहा है। दो वैक्सीन तीसरे चरण का ट्रायल कर रही हैं। अगले हफ्ते ऐस्ट्राजेनेका/ऑक्सफर्ड की कोरोना वैक्सीन को अप्रूवल मिल सकता है। लोकल मैन्युफैक्चरर ने प्रशासन के पास अतिरिक्त डेटा भेजा है। ब्रिटेन की दवा कंपनी के इस टीके को मंजूरी देने वाला भारत पहला देश हो सकता है।

अमेरिका और ब्रिटेन ने टीके को मंजूरी तो दे दी है लेकिन यहां आपूर्ति काफी धीमी है। भारत में तीन कंपनियों ने इमर्जेंसी अप्रूवल के लिए अप्लाई किया था। सीरम इस्टिट्यूट ऑफ इंडिया ने नए डेटा सरकार के सामने पेश किए हैं और इमर्जेंसी अप्रूवल मांगा है। वहीं ब्रिटेन में भी जल्द इस वैक्सीन को मंजूरी दी जा सकती है।

ऑक्सफर्ड वैक्सीन विकासशील देशों के लिए ज्यादा उपयोगी है क्योंकि इसको आसानी से संरक्षित किया जा सकता है और इसका ट्रांसपोर्टेशन भी आसान है। गर्म देशों में भी इसे आसानी से सुरक्षित रखा जा सकता है। भारत का सेंट्र ड्रग्स स्टैंडर्ड कंट्रोल ऑर्गनाइजेशन ने 9 दिसंबर को दिए गए ऐप्लिकेशन की समीक्षा की थी और सीरम इंस्टिट्यूट सहित अन्य कंपनियों से और डेटा मांगे थे। बता दें कि सीरम इंस्टिट्यूट दुनिया का सबसे बड़ा वैक्सीन मैन्युफैक्टरर है। इसने सभी डेटा सौंप दिए हैं। अभी फाइजर और भारत बायोटेक की तरफ से डेटा का इंतजार है।


Share