कोरोना : राजस्थान में दिसंबर जैसे हालात- लगातार तीसरे दिन एक हजार से ज्यादा पॉजिटिव

बच्चों के लिए आ गई वैक्सीन, फाइजर ने कहा- 100% असरदार
Share

जयपुर (कार्यालय संवाददाता)।  राजस्थान में कोरोना मरीजों का ग्राफ तेजी से ऊपर जा रहा है। शनिवार को 24 घंटे के अंदर कोरोना के रिकॉर्ड 1675 मरीज मिले हैं, जबकि 3 की मौत भी हुई है। पिछले साढ़े तीन माह बाद राज्य में 1600 से ज्यादा मरीज एक दिन में आए हैं।  इस साल पहली बार ऐसा हुआ कि इस संक्रमण से कोई जिला अछूता ना रहा। इससे पहले हर दिन कम से कम 2 जिले तो ऐसे रहे, जहां से नए मरीजों की संख्या शून्य दर्ज होती रही। और पहली बार नए मरीजों की संख्या अपने चरम पर है। वहीं एक्टिव केस 11738 की संख्या पर पहुंच चुके हैं, और रिकवरी सिर्फ 418 की हुई है। पिछले कुछ दिनों से जिस तरह से संक्रमितों की संख्या तेजी से बढ़ रही है, उसे देखकर लग रहा है कि वापस राज्य में दिसंबर 2020 जैसे हालात बन रहे हैं। जयपुर में कोरोना आउट ऑफ कंट्रोल होता जा रहा है। यहां साढ़े तीन महीने बाद 350 के पार मरीज पहुंच गए हैं।

दिसंबर में राज्य में हर रोज औसतन 1296 मरीज मिल रहे थे। मौजूदा परिस्थिति देखे तो पिछले 7 दिन से हर रोज औसतन 1143 मरीज मिल रहे हैं। राज्य में बिगड़ते हालातों को देखते हुए सरकार ने नाइट कफ्र्यू तो पहले से ही लगा दिया है, वहीं एक्टिव केस बढऩे के बाद प्राइवेट अस्पतालों में बेड भी रिजर्व रखवाने शुरू कर दिए हैं। पिछले एक माह के अंदर रिकवरी रेट भी 3 फीसदी नीचे आ गई है। फरवरी अंत तक प्रदेश में रिकवरी रेट 98.72 फीसदी थी, जो आज गिरकर 95.68′ पर आ गई है। वहीं एक्टिव केसों का ग्राफ भी 56′ की औसत दर से हर सप्ताह ऊपर बढ़ रहा है।

राज्य में कोरोना केसों की संख्या बढऩे के साथ एक्टिव केसों की संख्या भी तेजी से बढ़ रही है। मार्च में हर सप्ताह एक्टिव केस 56′ की औसत दर से बढ़ रहे हैं। बीते 6 दिन के अंदर 4679 एक्टिव केस बढ़े हैं। फरवरी अंत तक राज्य में कुल 1308 ही एक्टिव केस थे, जो आज दिन तक बढ़कर 11 हजार 738 पर पहुंच गई है।


Share