मुंबई में कोरोना रिटन्र्स – 550 सोसायटियों को सील करने की चेतावनी

बेंगलुरू के अपार्टमेंट में कोरोना विस्फोट
LUCKNOW, FEB 15 (UNI):- Uttar Pradesh Vidhan Parishad emlployees undergo coronavirus (Covid 19) testing before Budget Session U P Assembly at Vidhan Bhawan in Lucknow on Monday. UNI PHOTO-LKW PC 2U
Share

नई दिल्ली (एजेंसी)। भारत में कोविड-19 के जितने भी नए मामले आ रहे हैं, 60′ से ज्यादा केवल दो राज्यों- केरल और महाराष्ट्र से हैं। बुधवार को जारी आंकड़ों में केवल यही दो राज्य ऐसे रहे जहां पिछले 24 घंटों में 500 से ज्यादा केस आए हैं। पूरे देश में पिछले 24 घंटों के भीतर कोरोना के 11,610 नए मामले दर्ज किए गए हैं। इनमें से 3,663 अकेले महाराष्ट्र से हैं। महाराष्ट्र से ज्यादा मामले केवल केरल (4,937) से सामने आए हैं। यही दो राज्य ऐसे हैं जहां कोविड केसेज की संख्या 500 से ज्यादा रह रही है। पिछले 24 घंटों में महाराष्ट्र में सबसे ज्यादा (39) मरीजों की मौत हुई है जबकि केरल में कोविड से 18 मौतें हुई हैं।

महाराष्ट्र में फिर लग सकता है लॉकडाउन

महाराष्ट्र में कोविड-19 केसेज की बढ़ती संख्या के बीच फिर से लॉकडाउन लगाया जा सकता है। मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे ने मंगलवार को यह चेतावनी दी। उद्धव ने कहा, लोग लापरवाह हो गए हैं। यह लोगों के ऊपर है कि वे लॉकडाउन चाहते हैं या अभी जितनी कम बंदिशों के साथ जीते रहना चाहते हैं। मुंबई में भी स्थिति बेहद खराब है। वहां की मेयर किशोरी पेडनेकर ने बुधवार को लोकल ट्रेन में सफर किया और लोगों से मास्क पहनने की अपील की। उन्होंने कहा, रेल सेवाएं बहाल होने के बाद केवल मुंबई ही नहीं, बल्कि पूरे राज्य में मामले बढ़ रहे हैं। हालात खराब हैं।

बीएमसी ने 550 सोसायटियों

के बाहर चिपकाया नोटिस

मुंबई-वेस्ट वार्ड जिसमें चेम्बूर और तिलक नगर का इलाका आता है, बीएमसी ने सख्ती बढ़ा दी है। 550 हाउसिंग सोसायटीज के बाहर नोटिस चिपकाया गया है कि अगर केसेज बढ़ते रहे तो उन्हें सील कर दिया जाएगा। मुंबई के 5 वॉडों के कोरोना मरीजों की (शेष पृष्ठ ८ पर)

संख्या में 40-50′ का इजाफा देखा गया है।

साल के आखिर तक बाजार में आ जाएगी वैक्सीन

एम्स के निदेशक डॉ गुलेरिया को बुधवार को कोविड वैक्सीन की दूसरी डोज दी गई है। उन्होंने कहा है कि कोविड के टीके साल के आखिर तक ओपन मार्केट में आ जाएगी। डॉ गुलेरिया ने कहा, वैक्सीन ओपन मार्केट में तभी आएगी जब जिन्हें सबसे ज्यादा जरूरत है, उन्हें टीका मिल जाएगा और सप्लाई-डिमांड में बराबरी हो जाएगी। उम्मीद है कि ऐसे हालात साल के आखिर तक या उससे पहले बन सकते हैं।

महीने भर से डेली 15 हजार से कम केस

यह राहत की बात है कि पिछले एक महीने से देश में डेली केसेज की संख्या 15 हजार से कम दर्ज हो रही है। साथ ही करीब डेढ़ महीने से दैनिक मौतों का आंकड़ा भी 200 से कम रहा है। पिछले 15 दिनों से तो दैनिक मामलों का आंकड़ा घटकर 9,000 से 12,000 के बीच आ गया है और मौतों की संख्या भी घटकर 78 से 120 के बीच दर्ज हो रही है। इस साल के अब तक के सबसे कम दैनिक मामले 9 फरवरी को दर्ज हुए थे, जो कि 9,110 थे।


Share