कमजोर दिल वालों के लिए कोरोना ज्यादा खतरनाक

कमजोर दिल वालों के लिए कोरोना ज्यादा खतरनाक
Share

नई दिल्ली (एजेंसी)। कोरोना वायरस संक्रमण से अब तक फेफड़े और किडनी के प्रभावित होने की जानकारी थी लेकिन अब यह संक्रमण हृदय रोगियों के लिए भी जोखिम वाला साबित होने लगा है। राजधानी के सबसे बड़े सुपरस्पेशलिटी अस्पतालों में से एक जीबी पंत अस्पताल में दिल पर किए गए अध्ययन में सामने आया है कि कोविड वायरस दिल के मरीजों के लिए बेहद खतरनाक साबित हो रहा है। इससे लोगों को हार्ट अटैक जैसे मामलों में भी बढ़ोतरी हो रही है।

7 कोरोना मरीजों पर किया गया अध्ययन

स्टडी में 45 और 80 के बीच की उम्र के 7 कोरोना संक्रमित रोगियों पर अध्ययन किया गया। इसमें कोरोना से दिल पर पडऩे वाले असर से जुड़ी समस्याएं सामने आई हैं। अस्पताल के कार्डियोलॉजी विभाग के एसोसिएट प्रोफेसर डॉ. अंकित बंसल के मुताबिक एक स्वस्थ व्यक्ति की सामान्य हृदय गति (हार्ट रेट) 60 और 100 बीट प्रति मिनट (बीपीएम) के बीच होती है लेकिन इन सातों कोरोना संक्रमित रोगियों में अधिकतम हृदय गति 42 बीपीएम और न्यूनतम 30 बीपीएम पाई गई। जो बेहद कम है। फिलहाल सभी पीडि़तों की हालत स्थिर बताई गई है। इनमें से पांच मरीजों को स्थायी पेसमेकर लगाया जा चुका है। दो अन्य रोगियों की हृदय गति में अस्थायी पेसिंग और इलाज से सुधार भी पाया गया है लेकिन नतीजे स्पष्ट हैं कि अब कोरोना दिल से जुड़ी समस्याओं की भी वजह बन रहा है।


Share