राजस्थान में फैलता ही जा रहा कोरोना संक्रमण : गहलोत सरकार ने जारी की नई गाइडलाइन

महाराष्ट्र में कोरोना मचा रहा तबाही
Share

जयपुर (कार्यालय संवाददाता)। राजस्थान में कोरोना की दूसरी लहर ने एक बार फिर सरकार के हाथ-पांव फूला दिए हैं। शनिवार को मुख्यमंत्री अशोक गहलोत की अधिकारियों और विशेषज्ञ डॉक्टरों संग हुई बैठक के दूसरे दिन रविवार को सरकार ने नई गाइडलाइन जारी करते हुए कई पाबंदियां लगाई हैं। इसमें सरकार ने एक बार फिर स्कूलों में 6 से 9वीं तक की नियमित कक्षाओं को बंद करवा दिया है।

साथ ही स्नातक (यूजी) और स्नात्तकोत्तर (पीजी) की फाइनल इयर की क्लासों को छोड़कर शेष क्लासें बंद करने के आदेश दिए हैं। इसके साथ ही सरकार ने जिम, सिनेमाघर, स्विमिंग पूल को भी 5 से 19 अप्रैल तक बंद रखने का निर्णय किया है। हालांकि, व्यापारियों के लिए राहत की बात ये है कि नाइट कफ्र्यू की समयावधि (रात 10 से सुबह 5 बजे) को सरकार ने यथावत रखा है। सरकार ने जिलों में कलेक्टर और पुलिस आयुक्त (कमिश्नर) को नाइट कफ्र्यू लगाने के संबंध में विशेष अधिकार दिए हैं। अगर किसी जिले में नाइट कर्फ्यू रात 8 बजे से पहले और सुबह 6 बजे के बाद कफ्र्यू लगाना है तो उसके लिए राज्य सरकार से अनुमति लेनी होगी। इधर, रेस्टोरेंट्स संचालकों को नाइट कफ्र्यू में दी छूट को वापस ले लिया है। नई गाइडलाइन के तहत रेस्टोरेंट्स में नाइट कफ्र्यू से पहले तक बैठाकर खाना खिलवा सकेंगे, उसके बाद टेक अवे या होम डिलीवरी की ही सुविधा दे सकेंगे।

ये जारी किए नये नियम

  • कक्षा 1 से 9वीं तक की क्लासें नहीं लगेगी। कॉलेज शिक्षा में अंतिम वर्ष के अलावा शेष सभी यूजी और पीजी के नियमित कक्षाएं बंद रहेगी। लेकिन प्रेक्टिकल क्लास के लिए अनुमति रहेगी।
  • रेस्टोरेंट पर नाइट कफ्र्यू लागू होगा, लेकिन टेक अवे और डिलीवरी की व्यवस्था सुचारू रख सकेंगे। अर्थात नाइट कफ्र्यू के दौरान रेस्टोरेंट में बैठाकर खाना नहीं खिला सकेंगे।
  • सिनेमा घर, मल्टीप्लेक्स, मनोरंजन पार्क, जिम, स्विमिंग पूल बंद रहेंगे।
  • सामाजिक, धार्मिक, राजनैतिक, खेल, मनोरंजन व शैक्षिणक कार्यक्रम या आयोजन सशर्त हो सकेंगे। इसमें इंडोर एक्टिविटी हॉल की क्षमता का 50 प्रतिशत कैपेसिटी के साथ अधिकतम 100 से ज्यादा व्यक्तियों की अनुमति नहीं होगी।
  • राजकीय कार्यालयों में 75′ कर्मचारियों को ही काम पर बुलाया जाएगा, शेष से वर्क फ्रॉम होम करवाया जाएगा।
  • जहां कोरोना के मरीज ज्यादा है वहां राज्य के लोगों को यात्रा करने से बचने की सलाह।

Share