राज्य में 184% की दर से बढ़े कोरोना केस &सख्त हुए गहलोत, 5 दिन में ने 5वीं बार चेताया

सीएम गहलोत ने किया राज्यस्तरीय अभियान का शुभारंभ
Share

जयपुर (कार्यालय संवाददाता)।  प्रदेश में कोरोना की नई लहर आने के बावजूद लोगों की लापरवाही बढ़ रही है। नतीजा यह हो रहा है कि 5 दिन में राज्य में 184′ की दर से कोरोना केस बढ़े हैं। 5 दिनों में सीएम ने लगातार 5वीं बार कोविड नियमों का पालन करने की सख्त चेतावनी दी है। संकेत साफ है कि अगर नहीं सुधरे तो और सख्त कदम उठाने पड़ेंगे। 8 शहरों में नाइट कफ्र्यू से सरकार ने सख्त कदम की शुरुआत कर दी है। अब अगला नंबर लॉकडाउन का है।

गहलोत ने रविवार को सोशल मीडिया पर लिखा- सिंगापुर समेत कई देशों ने कोरोना नियंत्रण के लिए बड़े जुर्माने और कड़ी सजा का प्रावधान किया था। जिसके कारण वहां जनता ने कोविड प्रोटोकॉल फॉलो किया। वर्तमान में वहां अभी स्थिति पूरी तरह नियंत्रण में है। भारत में भी कई राज्यों ने कोविड प्रोटोकॉल के उल्लंघन पर बड़े जुर्माने लगाए हैं।

प्रदेश सरकार ने अभी इस तरह के कदम नहीं उठाए हैं। लेकिन कोविड प्रोटोकॉल सही ढंग से फॉलो ना होने के कारण प्रदेश में कोरोना के मामले तेजी से बढ़ रहे हैं। मेरी अपील है कि आमजन बिल्कुल भी लापरवाही ना बरतें। सभी कोविड प्रोटोकॉल का सही तरह पालन करें अन्यथा सरकार को सख्त कदम उठाने पड़ेंगे।

राजस्थान में कोरोना के रिकॉर्ड फिर टूटने लगे

मास्क लगाने और सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करने के लिए सरकार और डॉक्टर्स की ओर से बार-बार की जा रही अपील के बावजूद हालात जस के तस हैं। प्रदेश के कई शहरों से लापरवाही की चिंताजनक तस्वीरें सामने आ रही हैं। राजस्थान में कोरोना के रिकॉर्ड फिर टूटने लगे हैं। पिछले तीन दिन से लगातार 400 से ज्यादा संक्रमित केस सामने आ चुके हैं। रविवार को प्रदेश के 29 जिलों में 476 केस सामने आए। पिछले 5 दिन में ही 184′ की दर से कोरोना बढ़ा है। 8 शहरों (जयपुर, जोधपुर, उदयपुर, कोटा, भीलवाड़ा, अजमेर, सागवाड़ा और कुशलगढ़) में नाइट कफ्र्यू लगा दिया गया है। जो एक साल पहले बने हालातों की तरफ इशारा कर रहा है।

5 से ज्यादा मामले मिलते ही मिनी कंटेंनमेंट जोन घोषित

हेल्थ प्रोटोकॉल का पालन ही कोरोना से सबसे बड़ा बचाव है। इसके बावजूद अनदेखी का स्तर चिंताजनक स्तर पर पहुंच गया है। जिस इलाके में 5 या इससे ज्यादा कोरोना पॉजिटिव होंगे उस इलाके को मिनी कंटेनमेंट जोन घोषित कर लॉकडाउन जैसी पाबंदिया लागू होंगी।


Share