कांग्रेस का नवसंकल्प चिंतन शिविर आज : गहलोत, डोटासरा और सुरजेवाला का भाजपा पर हमला

Will be able to join government job without caste certificate, OBC-MBC-EWS class will have to give only affidavit
Share

जो कांग्रेस मुक्त भारत की बात करते हैं वे खुद भारत मुक्त हो जाएंगे : गहलोत

छद्म और संकुचित राष्ट्रवाद के नारे पर रोटियां सेंक रही भाजपा : डोटासरा | शिविर में 50-55 की आयु तक युवा और 3′ महिलाएं ले रही हैं भाग : सुरजेवाला

नगर संवाददाता . उदयपुर। प्रदेश के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने भाजपा पर निशाना साधते हुए कहा कि जो कांग्रेस मुक्त भारत की बात करते है वे खुद ही भारत मुक्त हो जाएंगे। इसी को लेकर कांग्रेस के राष्ट्रीय नेतृत्व ने उदयपुर में नव संकल्प चिंतन शिविर का आयोजन किया है, जिसमें देश की वर्तमान स्थिति और आम जनता के मुद्दों को लेकर चिंतन किया जाएगा और चिंतन में जो परिणाम आएगा उससे कांग्रेस में एक नई उर्जा का संचार होगा। वहीं राष्ट्रीय प्रवक्ता रणदीप सुरजेवाला ने कहा कि इस शिविर में 50-55 वर्ष तक के युवा और 3 प्रतिशत महिलाएं हिस्सा ले रही है।

कांग्रेस के व संकल्प चिंतन शिविर की पूर्व संध्या पर प्रदेश के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत, प्रदेशाध्यक्ष गोविन्द सिंह डोटासरा और राष्ट्रीय प्रवक्ता रणदीप सुरजेवाला ने भाजपा पर हमला बोला। इस मौके पर मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने कहा कि 7 वर्ष से देश जिन हालातों में गुजर रहा है उस पर चर्चा की जाएगी। लोकतंत्र खतरे में है, देश में तनाव, चिंता का माहौल बना हुआ है जो चिंता जनक है। गहलोत ने कहा कि कांग्रेस का कुर्बानी, त्याग, बलिदान का इतिहास रहा है। कांग्रेस ने देश को अखण्ड रखते हुए नीतियों और सिद्धांत पर देश को चलाया है। गहलोत ने कहा अभी देश में ऐसे लोग सत्ता में है जो कांग्रेस मुक्त भारत हो जाएगा की बात करते है, वे कभी खुद भारत मुक्त हो जाएंगे। गहलोत ने कहा कि नव संकल्प में कई मुद्दों पर चर्चा की जाएगी और जो भी परिणाम आए उसे जन-जन तक लेकर जाएंगे। कार्यकर्ताओं में उत्साह का माहौल बना हुआ है। देश में सीबीआई, ईडी का तांडव हो रहा है। जो भी सरकार के खिलाफ बोलता है तो ये विभाग उनके घर में घुस जाते हैं और कुछ भी नहीं मिलता है तो भी सात-सात दिन तक बाहर नहीं निकलते है, क्योंकि इन्हें उपर से ही ऐसा आदेश मिलता है। गहलोत ने कहा कि सोनिया गांधी और राहुल गांधी देश के नेता है और देश के लोग कांग्रेस से उम्मीद करते है और कांग्रेस देश की इस स्थिति से चिंतित है। इस नव संकल्प चिंतन शिविर के बाद देश को नया संदेश मिलेगा।

जिन राज्यों में चुनाव है वहां दंगा करवाते है : प्रदेश के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने कहा कि भाजपा जिन राज्यों में चुनाव होने वाले है या आने वाले है वहां पर दंगे करवाती है। प्रदेश में भी करौली और जोधपुर में भी यही करवाया था, लेकिन हमने फेल कर दिया। साथ ही प्रवक्ता रणदीप सुरजेवाला ने कहा कि उत्तरप्रदेश, गोवा, मिजोरम में चुनाव के पहले दंगे हुए थे और चुनाव के बाद बंद हो गए। यह भाजपा की फिक्स रणनीति है, जिस पर भी मंथन किया जाएगा।

संगठन में बदलाव, नवाचार पर भी मंथन होगा : इस मौके पर राष्ट्रीय प्रवक्ता रणदीप सुरजेवाला ने कहा कि इस चिंतन बैठक में विभिन्न मुद्दों के साथ इस पर भी चर्चा की जाएगी कि हममें क्या त्रुटियां या कमियां है। हमे विचारों में या संगठन मेें क्या बदलाव करना है और बदलते समय के साथ क्या बदलाव करना होगा इस पर भी चर्चा की जाएगी। साथ ही कहा कि वैचारिक और नीतिगत मतभेद हो सकते है, लेकिन लक्ष्मण रेखा पार नहीं करनी चाहिए। यदि कोई करता है तो यह अनुशासनहीनता में आता है।

कुछ सेठों की वजीर बन गई है ये सरकार : डोटासरा

इस मौके पर राजस्थान प्रदेशाध्यक्ष गोविन्द सिंह डोटासरा ने कहा कि केन्द्र की भाजपा सरकार कुछ धन्ना सेेठों की वजीर बन गई है। इस सरकार ने वर्ष 2014 में बड़े-बड़े वायदे किए थे और अब तक देश को 7 साल का हिसाब नहीं दिया गया है। साथ ही मोदी सरकार में देश में सामाजिक समरसता, धर्म निरपेक्षता व कांग्रेस से खतरा है। कांग्रेस संविधान को मानती है और ये धज्जियां उड़ाते है। छद्म राष्ट्रवाद और सकुंचित राष्ट्रवाद का नारा देकर सत्ता की रोटियां सेक रहे है। मोदी सरकार देश में लोकतंत्र से बनी सरकार को गिराने का प्रयास कर रही है। कुछ धन्ना सेेठों की वजीर बन गई है ये सरकार। साथ ही कहा कि संकल्प शिविर के माध्यम से आम आदमी की लड़ाई लड़ी जाएगी। जो धर्मनिरपेक्षता और संविधान केा नही मानते है उनके खिलाफ निर्णायक लड़ाई लडऩे का संकल्प लिया जाएगा। 2023 में राजस्थान में और 2024 में देश में कांग्रेस की सरकार बनेगी।

6 मुद्दों पर किया जाएगा चिंतन : सुरजेवाला

इस मौके पर कांग्रेस के राष्ट्रीय प्रवक्ता रणदीप सुरजेवाला ने कहा कि कांग्रेस के इस नव संकल्प चिंतन शिविर में 6 मुद्दों पर चिंतन और मंथन किया जाएगा। सुरजेवाला ने कहा कि देश की सम्प्रभुता, राष्ट्रधर्म, संविधान की रक्षा, अर्थव्यवस्था, महंगाई-बरोजगारी, दलित अत्याचार के मुद्दों पर चिंतन किया जाएगा। सुरजेवाला ने कहा कि देश में 7 सालों में 84 प्रतिशत लोगों की आय कम हुई है, रूपया अब तक के सबसे नीचले स्तर पर है। 2014 में 55 लाख करोड़ का कर्जा था और आज 135 लाख करोड़ का कर्जा है। 30 लाख सरकार नौकरियों के पद खाली है, किसानों और लघुउद्योग समाप्ति की ओर है। श्मशान, कब्रिस्तान, बुलडोजर, मंदिर, मस्जिद, गुरूद्वारा, गिरिजाघर की बात हो रही है और कौन क्या कपड़े पहनेगा यह तय किया जा रहा है।


Share