कांग्रेस का नवसंकल्प चिंतन शिविर : आखिरी दिन राहुल की पार्टी नेताओं को नसीहत शॉर्टकट से काम नहीं चलेगा, पसीना बहाना होगा, जनता के बीच जाना होगा

Congress's Navsankalp Chintan Shivir: Rahul's advice to party leaders on the last day
Share

डिप्रेशन में न जाएं, लड़ाई लंबी है

नगर संवाददाता . उदयपुर। लेकसिटी में चल रहा कांग्रेस का नव संकल्प शिविर के आखिरी दिन राहुल गांधी ने कांग्रेस नेताओं को एक बड़ी नसीहत दी है। राहुल गांधी ने पार्टी नेताओं को साफ कहा कि शार्ट से काम नहीं चलेगा और जनता का विश्वास जीतने के लिए उनके बीच में जाना होगा। साथ ही कहा कि पार्टी नेताओं को पसीना बहाना होगा और देश के लिए जनता के बीच में जाकर फिर से संघर्ष करने की जरूरत है।

उदयपुर में कांग्रेस का 3 दिवसीय चिंतन शिविर रविवार को खत्म हो गया है। तीसरे दिन कांग्रेस के पूर्व राष्ट्रीय अध्यक्ष के रूप में राहुल गांधी ने कांग्रेस नेताओं को सम्बोधित किया। अपने सम्बोधन के दौरान पार्टी नेताओं को आयना बताने का प्रयास किया और बड़ी नसीहत दे दी। साथ राहुल ने पार्टी नेतोओं को सम्बोधित करते हुए कहा कि शॉर्टकट से काम नहीं चलेगा। हमे पसीना बहाना होगा, तभी वापस जनता से जुड़ेंगे। राहुल ने कहा कि जनता से पैदा हुए हैं, यह हमारा डीएनए है, यह संगठन जनता से बना है। हम फिर जनता के बीच जाएंगे। अक्टूबर में पूरी कांग्रेस पार्टी जनता के बीच जाएगी और यात्रा कर जनता का दुख-दर्द समझेगी। राहुल ने कहा कि हमारा जनता के साथ रिश्ता है, वह फिर से मजबूत करेंगे। यही एक रास्ता है और कोई शॉर्टकट से यह नहीं होगा और पार्टी नेताओं को जनता के बीच जाकर ऊिर से विश्वास जीतना होगा। राहुल ने कहा कि भाजपा से यह लड़ाई प्रादेशिक राजनीतिक दल लड़ सकते है, यह लड़ाई केवल कांग्रेस ही लड़ सकती है। रीजनल पार्टियां भाजपा को नहीं हरा सकती, क्योंकि उनके पास विचारधारा नहीं है, वे अलग-अलग हैं। राहुल गांधी ने कहा कि मुझे कोई डर नहीं है। मैंने जिंदगी में एक रूपए किसी से नहीं लिया, कोई भ्रष्टाचार नहीं किया। मैंने भारत माता से एक पैसा नहीं लिया है। मैं सच बोलने से नहीं डरता हूं। इस मौके पर पूर्व उदयपुर सांसद और कांग्रेस वर्किंग कमेटी के सदस्य रघुवीर मीणा ने धन्यवाद दिया।

ये कांग्रेस की जिम्मेदारी है,  देश में आग नहीं लगे

अपने उद्बोधन के दौरान राहुल गांधी ने कहा देश में आग लगने वाली है। राहुल ने कहा कि मैंने आपको कोविड से पहले चेताया था, अब फिर कह रहा हूं । भाजपा देश के इंस्टीट्शन को तोड़ रहे हैं, ये जितना संस्थानों को खत्म करेंगे, उतनी ही आग लगेगी। यह हमारी जिम्मेदारी है कि देश में यह आग नहीं लगे। यह काम केवल कांग्रेस कर सकती है। इस देश में ऐसा कोई धर्म, जाति, व्यक्ति नहीं है, जो यह कह दे कि उसने कांग्रेस के लिए दरवाजे बंद कर दिए हों। कांग्रेस सबकी पार्टी है।

नोटबंदी, जीएसटी से दो-तीन उद्योगपतियों को फायदा

राहुल गांधी ने कहा कि रोजगार पैदा करने वाली रीढ़ की हड्डी को मोदी और बीजपी ने तोड़ दिया है। नोटबंदी और जीएसटी लागू होने से इसका फायदा दो तीन उद्योगपतियों मिला है और इसके माध्यम से सरकार ने युवाओं के भविष्य को खत्म कर दिया। आने वाले समय में देश का युवा रोजगार नहीं पा सकेगा। महंगाई की वजह से रोजगार नहीं मिलेगा।


Share