कांग्रेस के डेटा सेल प्रमुख का तंज, केवल ‘कार्यकर्ताओं’ पर लागू होती है ‘एक व्यक्ति एक पद’ की नीति

कांग्रेस के डेटा सेल प्रमुख का तंज, केवल 'कार्यकर्ताओं’ पर लागू होती है 'एक व्यक्ति एक पद’ की नीति
Share

नई दिल्ली (एजेंसी)। राज्यसभा के उम्मीदवारों की घोषणा के बाद से कांग्रेस में घमासान मच हुआ है। गुरूवार को, पार्टी के डेटा एनालिटिक्स सेल के प्रमुख प्रवीण चक्रवर्ती ने एक तंज भरे लहजे में ट्वीट करते हुए लिखा कि उदयपुर संकल्प शिविर में लिए फैसले केवल कार्यकर्ताओं पर ही लागू होंगे। दरअसल चक्रवर्ती ने पार्टी के महाराष्ट्र प्रमुख नाना पटोले पर ट्वीट के जरिए निशाना साधा है।

नाना पटोले ने बुधवार को जोर देकर कहा था कि महाराष्ट्र में पार्टी, उदयपुर में हुए ‘चिंतन शिविर’ के दौरान अपनाई गई ‘एक व्यक्ति एक पद’ की नीति लागू करेगी। एक से अधिक पद वाले पदाधिकारी अपने अतिरिक्त पदों को छोड़ देंगे। अखबार में छपी इसी खबर को ट्वीट करते हुए प्रवीण चक्रवर्ती ने लिखा, कोई भी कार्यकर्ता एक से अधिक पद पर नहीं रहेगा। केवल ‘कार्यकर्ताओं’ पर लागू होता है। उन्होंने अपने ट्वीट में ‘कार्यकर्ताओं’ शब्द पर जोर दिया।

कई अंदरूनी सूत्रों ने बताया कि राज्यसभा की सीट के लिए चक्रवर्ती के नाम पर दो बार विचार किया गया था। पहली बार सितंबर 2021 में और दूसरी बार अभी हाल ही में। पिछले साल द्रमुक ने चक्रवर्ती का साथ देने से इनकार कर दिया था और दोनों सीटों पर अपने-अपने उम्मीदवार उतारे थे।

इस साल, चक्रवर्ती की उम्मीदवारी को तब झटका लगा जब कांग्रेस को तमिलनाडु से पूर्व वित्त मंत्री पी चिदंबरम को टिकट देना पड़ा। कांग्रेस के एक नेता ने बताया कि द्रमुक भी, जिनके वोट कांग्रेस के उम्मीदवार की जीत के लिए महत्वपूर्ण थे, वे भी अन्य नामों पर चिदंबरम की उम्मीदवारी के साथ अधिक सहज थे।

कांग्रेस नेताओं ने उन अफवाहों को भी खारिज किया जिसमें कहा जा रहा है कि राज्यसभा के लिए मौजूदा द्विवार्षिक चुनावों में 10 उम्मीदवारों में से कुछ को राहुल गांधी के कड़े प्रतिरोध का सामना करना पड़ा। द्विवार्षिक चुनाव लड़ रहे एक वरिष्ठ नेता ने कहा, अगर गांधी ने किसी नाम को अस्वीकार कर दिया होता, तो उन्हें टिकट नहीं मिलता। इससे पहले पार्टी के वरिष्ठ प्रवक्ता पवन खेड़ा और महिला कांग्रेस नेता नगमा ने जनता के बीच अपनी नाराजगी जाहिर की थी। हालांकि, खेड़ा ने अगले ही दिन पार्टी के प्रति अपनी प्रतिबद्धता दोहराई।


Share