गोवा में कांग्रेस ने नेता प्रतिपक्ष को हटाया, 9 विधायकों के भाजपा में जाने की अटकलें, 4 सीएम से मिले; 40 करोड़ के ऑफर का दावा

गोवा में कांग्रेस ने नेता प्रतिपक्ष को हटाया, 9 विधायकों के भाजपा में जाने की अटकलें, 4 सीएम से मिले; 40 करोड़ के ऑफर का दावा
Share

पणजी (एजेंसी)। महाराष्ट्र में जारी उठापटक के बीच अब पड़ोसी राज्य गोवा में भी राजनीतिक हलचल तेज हो गई है। हालांकि यहां सरकार गिराने की नहीं, बल्कि कांग्रेस में सेंधमारी की खबर सामने आ रही है। 4 विधायक मुख्यमंत्री प्रमोद सावंत से भी मिल चुके हैं।

सूत्रों के मुताबिक गोवा के पूर्व मुख्यमंत्री दिगंबर कामत और विपक्ष के नेता माइकल लोबो समेत कांग्रेस के 9 विधायकों के भाजपा में जाने की अटकलें हैं। इस बीच कांग्रेस हाईकमान ने रविवार को नेता प्रतिपक्ष के पद से माइकल लोबो को हटा दिया है। बताया जा रहा है कि भाजपा से डील के पीछे लोबो और पूर्व मुख्यमंत्री दिगंबर कामत ही मुख्य भूमिका में हैं।

लोबो कांग्रेस से पहले भाजपा में ही थे। विधानसभा चुनाव से एक महीने पहले जनवरी 2022 में ही उन्होंने प्रमोद सावंत कैबिनेट से इस्तीफा देने के एक दिन बाद कांग्रेस पार्टी का दामन थाम लिया था। उनके साथ उनकी पत्नी ने भी कांग्रेस का हाथ थाम लिया था।

विधायकों को 40 करोड़ का दिया गया ऑफर

इंडिया टुडे की रिपोर्ट के मुताबिक, गोवा कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष गिरीश चोडनकर ने दावा किया है कि विधायकों को भाजपा में शामिल होने के लिए 40 करोड़ रुपए की पेशकश की गई है। चोडनकर ने बताया कि बिजनेसमैन और कोयला माफियाओं द्वारा कांग्रेस विधायकों को फोन किया जा रहा है।

भाजपा ने जिन 3 विधायकों से संपर्क किया है, उन्होंने कांग्रेस के गोवा प्रभारी दिनेश गुंडू राव से इस बात का खुलासा किया। गुंडू राव ने कहा कि विधायकों को तोडऩे के पीछे विपक्ष के नेता माइकल लोबो और पूर्व मुख्यमंत्री दिगंबर कामत की भूमिका सामने आई है। लोबो को पार्टी ने पेता प्रतिपक्ष के पद से हटा दिया है। कामत के खिलाफ भी कार्रवाई की जाएगी।

हालांकि भाजपा ने आरोपों को खारिज कर दिया है। भाजपा प्रदेश अध्यक्ष सदानंद तनावडे ने कहा कि कांग्रेस का आरोप निराधार है।

कांग्रेस की मीटिंग में सिर्फ 3 विधायक पहुंचे

गोवा में कांग्रेस के 11 विधायक हैं। बगावत की अटकलों के बीच पार्टी ने सभी विधायकों की रविवार शाम करीब 7 बजे इमरजेंसी मीटिंग बुलाई थी। इसमें गिरीश चोडनकर, दिनेश राव,और अमित पाटकर ही पहुंचे थे। दिगंबर कामत, माइकल लोबो, दलीला लोबो, एलेक्सियो सेक्विरा, केदार नाइक, राजेश फलदेसाई, कार्लोस अल्वारेस, एल्टन डकोस्टा,यूरी अलेमो बैठक में नहीं आएं।

कांग्रेस बोली- सभी विधायक एकजुट हैं

कांग्रेस ने इन खबरों का खंडन किया है। गोवा कांग्रेस के वरिष्ठ नेता गिरीश चोडनकर ने भास्कर को कन्फर्म किया कि हमारा एक भी विधायक भाजपा में शामिल नहीं होने जा रहा। ये सिर्फ अफवाहें हैं। शनिवार को जो विधायक होटल में इकट्ठा हुए थे, वे सोमवार से शुरू हो रहे सत्र की चर्चा के लिए जुटे थे।

नाराज विधायकों को मनाने में जुटी कांग्रेस

सूत्रों के मुताबिक कांग्रेस में नाराज विधायकों को मनाने की कोशिश जारी है। भाजपा गोवा प्रभारी दिनेश गुंडू राव विधायकों को मनाने में जुटे हुए हैं। हालांकि गुंडू राव ने कहा कि कल हमने गोवा में सीएलपी की बैठक की थी। पार्टी के सभी विधायक एक साथ हैं। भाजपा हमारे विधायकों को डराने-धमकाने की कोशिश कर रही है। उन्होंने इस बात का खंडन किया है कि कांग्रेस के कुछ विधायक दिल्ली में डेरा डाले हुए हैं।


Share