भारत जोड़ो यात्रा के बीच भगवा रंग में दिखा कांग्रेस कार्यालय, आनन-फानन में दोबारा हुई पुताई

Congress office seen in saffron color amid Bharat Jodi Yatra
Share

त्रिशूर (एजेंसी)। केरल के त्रिशूर जिले में ‘भारत जोड़ो यात्रा’ के स्वागत की तैयारियों के बीच कांग्रेस के जिला कार्यालय के भगवा रंग में रंगे होने के कारण पार्टी नेतृत्व को शर्मिंदगी का सामना करना पड़ा। यह सब ऐसे समय में हुआ जब कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी ‘भारत जोड़ो यात्रा’ के जरिए राज्य में भारतीय जनता पार्टी की ‘विभाजनकारी राजनीति’ के खिलाफ प्रचार कर रहे हैं।  जिला कांग्रेस समिति ने यात्रा के त्रिशूर जिले में पहुंचने से पूर्व पार्टी के जिला मुख्यालय को नया रूप देने की योजना बनाते हुए इमारत को तिरंगे के रंग में रंगने का निर्देश दिया था। जबकि, मजदूरों ने गलती से भगवा और हरे रंगों को अधिक प्रमुखता दी। भाजपा के झंडे में भगवा और हरा रंग है। भारत जोड़ो यात्रा का आज आठवां दिन है।

सोशल मीडिया पर यूजर्स लेने लगे चुटकी

पुताई के बाद ऑफिस को देखने के बाद ऐसा लग रहा था जैसे वह कांग्रेस नहीं, भाजपा का कार्यालय है। जब बिल्डिंग की पुताई हो गई तो स्थानीय लोगों का ध्यान इस चूक पर गया। तक तक पार्टी कार्यालय की तस्वीरें सोशल मीडिया पर आई थीं। कई लोग इसकी चुटकी लेने लगे। जिसके बाद कांग्रेस पार्टी के नेतृत्व को शर्मिंदगी उठानी पड़ी।

आनन-फानन में दोबारा हुई पुताई

कांग्रेस के राजनीतिक विरोधियों ने पार्टी पर आरोप लगाया कि भगवा रंग का चयन भाजपा से उनके जुड़ाव को दर्शाता है। इस विवाद पर रोक लगाने के लिए कार्यकर्ताओं को आनन-फानन में बुधवार को सुबह भगवा रंग के ऊपर हरा रंग पोतने का निर्देश दिया। डीसीसी के सीनियर पदाधिकारी ने कहा, कार्यालय की दीवारों पर भगवा रंग संयोग से पोत दिया गया लेकिन, दुर्भाग्यवश इससे राजनीतिक विवाद खड़ा हो गया।

राष्ट्रीय ध्वज के रंगों से सजाने की योजना थी: पदाधिकारी ने बताया, भारत जोड़ो यात्रा के जिले में पहुंचने से पहले डीसीसी कार्यालय को नया रूप देने के मकसद से राष्ट्रीय ध्वज के रंगों से सजाने की योजना बनाई गई थी, लेकिन, ऐसा लगता है कि मजदूर सफेद रंग का उपयोग करना भूल गए और केवल भगवा और हरे रंग से पुताई कर दी। उन्होंने बताया कि दोबारा पुताई का काम जोरों पर है और जल्द ही पूरा हो जाएगा।


Share