चित्तौड़: भाजपा की जन आक्रोश रैली से भरी हुकार, कांग्रेस सरकार पर जमकर किये प्रहार कांग्रेस कोरोना से भी ज्यादा खतरनाक: पूनिया

Congress more dangerous than Corona: Poonia
Share

चित्तौडग़ढ़ (प्रात:काल संवाददाता)।   कांग्रेस सरकार के तीन वर्ष पूरे होने पर विफलताओं को लेकर भारतीय जनता पार्टी जिला संगठन द्वारा गुरूवार को प्रदेशाध्यक्ष सतीश पुनिया के नेतृत्व में जन आक्रोश रैली के माध्यम से हुंकार भरते हुए स्थानीय एक वाटिका में आयोजित आम सभा में वक्ताओं ने जमकर प्रहार किये। जिला मुख्यालय पर आयोजित जन आक्रोश रैली से पूर्व प्रदेशाध्यक्ष पुनिया का कपासन चौराहे से लेकर सभा स्थल तक भाजपा किसान मोर्चा जिला अध्यक्ष गब्बर सिंह अहीर, भाजयुमो जिलाध्यक्ष सुरेश गाडरी, महिला मोर्चा जिलाध्यक्ष वीणा दशोरा, ओबीसी मोर्चा जिलाध्यक्ष गोटूलाल सुथार, भाजपा अनुसूचित मोर्चा जिलाध्यक्ष कमलेश आमेरिया, एस टी मोर्चा जिलाध्यक्ष पन्नालाल भील, अल्पसंख्यक मोर्चा जिलाध्यक्ष एम डी शेख सहित पदाधिकारियों ने स्वागत किया गया। पुनिया को वाहन रैली के माध्यम से सभा स्थल लाया गया, जहां पूर्व केबिनेट मंत्री श्रीचंद कृपलानी, सांसद सी पी जोशी, जिलाध्यक्ष गौतम दक, जिला प्रमुख डॉ सुरेश धाकड़़, विधायक चंद्रभान सिंह आक्या, अर्जुन जीनगर, ललित ओस्तवाल सहित अन्य पदाधिकारियों ने स्वागत किया गया। इस दौरान सभा को सम्बोधित करते हुए पुनिया ने  कहा कि प्रदेश में इन तीन वर्षों में बेरोजगारी, महिला उत्पीडऩ, किसानों के कर्जा माफी की वादा खिलाफी जैसे कई मुद्दो पर कांग्रेस सरकार फैल साबित हुई है। उन्होंने कहा कि कांग्रेस कोरोना से भी ज्यादा खतरनाक है जिसे मुक्त करना जरूरी हो गया है। ऐसे में आने वाले 2023 के चुनाव में कांग्रेस को सत्ता से उखाड़ फैंकने का संकल्प लेना होगा। उन्होंने कहा कि दुष्कर्म व गैंगरेप की घटनाएं बढ़ी है, वही 6 लाख से अधिक मुकदमें दर्ज हुए जिनमें से कई मुकदमों को सरकार झूठा बता कर पल्ला झाड़ रही है। पूर्व केबिनेट मंत्री श्रीचंद कृपलानी ने कहा कि केंद्र सरकार की योजनाओं को राज्य सरकार अपनी योजना बनाकर जनता को गुमराह करने का काम कर रही है।  सांसद जोशी ने कहा कि प्रदेश की कांग्रेस सरकार ने किसानों पर अत्याचार करते हुए उनकी जमीनों को कुर्की कर काश्तकारों का नाश कर सत्ता पर आसीन है। हेमंत विजयवर्गीय ने कहा कि कांग्रेस के तीन वर्ष के कार्यकाल में मत्रांलय से लेकर सचिवालय तक पार्टी में लड़ाई चलती रही है।  जिलाध्यक्ष दक ने कहा कि कांग्रेस काल में किसान, युवा वर्ग परेशान है, वही बिजली दरों में वृद्धि के साथ ही विकास कार्य अवरूद्ध हो गये। जिला प्रमुख डॉ धाकड़ ने कहा कि इस सरकार में पुलिस कानून व्यवस्था नहीं बल्कि सरकार के दलाल बनकर बैठी है, भाजपा के लोगों से चुन-चुन कर बदला लिये जा रही। विधायक ओस्तवाल ने कहा कि सरकार द्वारा प्रशासन गावों के संग शिविरों में भाजपा के कब्जे हटाने का कार्य किया जा रहा है। विधायक आक्या ने कहा कि पिछले तीन वर्षो में विकास थम सा गया है।  विधायक जीनगर ने कहा कि कांग्रेस सरकार अंतर्कलह के बीच फंस गई, जिसके चलते प्रदेश में विकास कार्य अवरूद्ध हो गया है।

पैदल रैली निकालकर कलेक्ट्रेट चौराहे पर किया प्रदर्शन

सभा के समापन के बाद प्रदेशाध्यक्ष पुनिया ने पदाधिकारियों व हजारों कार्यकर्ताओं के साथ महाराणा प्रताप सेतु पुलिया से पैदल जन आक्रोश रैली निकालकर नगर पालिका कॉलोनी, बस स्टैण्ड के समीप से होते हुए सीधे कलेक्ट्रेट चौराहे पहुंचे जहां कांग्रेस सरकार के खिलाफ  विफलताओं को लेकर भाजपा जमकर प्रदर्शन करते हुए नारेबाजी की। इस दौरान कानून व्यवस्था की दृष्टि से अति पुलिस अधीक्षक हिम्मत सिंह देवल, रावतभाटा अति पुलिस अधीक्षक ज्ञान प्रकाश नवल, उपाधीक्षक शाहना खानम, लाभूराम विश्नोई, थानाधिकारी तुलसीराम सहित अन्य अधिकारी मौजूद थे।

पूर्व विधायक ने रैली को बताया फ्लोप

एआईसीसी सदस्य पूर्व विधायक सुरेंद्र सिंह जाड़ावत ने गुरूवार को जिला मुख्यालय पर भाजपा द्वारा आयोजित की गई जन आक्रोश रैली को पूरी तरह फ्लाप करार दिया। पूर्व विधायक जाड़ावत ने बताया कि, राजस्थान सहित चितौडगढ की जनता में सरकार के कामकाज से तथा मुख्यमंत्री गहलोत द्वारा जो जनकल्याणकारी योजनाओं आमजन के लिए बनाई गई उससे समाज का हर तबका संतुष्ट हैं।

चित्तौडग़ढ़। राज्य के 60 लाख किसानों के साथ गहलोत सरकार ने वादा खिलाफी की है, 10 दिनों में कर्जा माफ करने के नाम पर अभी तक किसान दर-दर की ठोकरें खा रहा है। बैंकों का एक लाख बीस करोड़ रुपयों का कर्ज बाकी है। यह बात भारतीय जनता पार्टी प्रदेश अध्यक्ष डॉ. सतीश पूनिया ने पत्रकारों को संबोधित करते हुए कहीं।  पुनिया ने सर्किट हाउस में मीडिया कर्मियों से चर्चा में गहलोत सरकार पर जमकर निशाना साधते हुए कहा कि राज्य में अपराध चरम पर है, सरकार के 3 वर्ष पूर्ण होने पर जहां राज्य के मुख्यमंत्री बयान देते है कि महिला अपराध में 47 प्रतिशत की कमी हुई है। यह राज्य की मां-बहनों के लिए ठेस की बात है, क्योंकि आधे से अधिक महिला अपराध थानों में दर्ज नहीं होते है। गिड़ा में हुई घटना उदाहरण देते हुए कहा कि राज्य की सरकार कानून व्यवस्था का इक़बाल खत्म हो गया है। वल्लभनगर विधानसभा क्षेत्र में भाजपा को चौथे पायदान पर आने को लेकर उन्होंने कहा कि 2 विधानसभा क्षेत्र थोड़ी तकलीफ देह थी, चुनाव की प्रतिस्पर्धा में सत्ता व विपक्ष दोनों हार सकते हैं, यहां पर कहीं ना कहीं भाजपा के प्रबंधन की कमी रह गई थी। पिछले दिनों वसुंधरा की मेवाड़ यात्रा को लेकर पूछे गए सवाल पर उन्होंने कहा कि नेताकी आवाजाही को सियासत का दर्जा देना सही नहीं है। इस दौरान सांसद सी पी जोशी, पूर्व केबिनेट मंत्री श्रीचंद कृपलानी, जिला प्रमुख डॉ सुरेश धाकड़, जिलाध्यक्ष गौतम दक, विधायक चंद्रभान सिंह आक्या, अर्जुन जीनगर, ललित ओस्तवाल, हेमंत विजय वर्गीय सहित भाजपा पदाधिकारी मौजूद थे।


Share