Share

एक्शन में कलेक्टर, यूआईटी अधिकारियों को दिया काम पूरा करने का समय
– फतहसागर, पिछोला झील की खुबसूरती को लेकर निर्धारित किया समय

उदयपुर। जिला कलेक्टर चेतन देपड़ा ने मंगलवार को यूआईटी की बैठक में एक्शन में दिखे और अधिकारियों को काम पूरा करने के लिए एक निर्धारित समय दिया है। इसके साथ ही इस निर्धारित समय में काम किसी भी स्थिति में काम पूरा करनें के लिए कहा है। जिसमें मुख्य रूप से फोकस फतहसागर और पिछोला झील की खुबसूरती और वहां के विकास को लेकर किया गया है।

जिला कलेक्टर और यूआईटी चैयरमेन चेतनराम देवड़ा मंगलवार को यूआईटी पहुँचे और वहां पर जाकर अधिकारियों की बैठक ली। बैठक में विभिन्न योजनाओं की समीक्षा ली, इसके साथ ही कलेक्टर ने सभी अधिकारियों को एक निर्धारित समय में काम पूरा करने के लिए निर्देश दिए। इस दौरान कलेक्टर एक्शन में नजर आए। कलेक्टर ने फतहसागर झील पर म्यूजिकल सिस्टम को सुचारू करने क लिए एसई इलेक्ट्रीकल को 15 जुलाई तक का समय दिया है। इसी तरह फतहसागर झील पर सभी लाईटें सुचारू करने और निगम की लाईटों को भी न्यास के अधिकार में लेने के लिए एसई इलेक्ट्रीकल की जिम्मेदारी तय कर 16 जुलाई का समय दिया है। इसत हर फतहसागर पर बैंचों की डिजाईन और सफेद रंग के ग्रेनाईट की बैंचे लगाने के लिए अधीक्षण अभियंता को 10 अगस्त का समय दिया है। इसी तरह फतहसागर झील पर आपातकाल व्यवस्था को लेकर नम्बरों को लिखन के लिए एक्सईन को 20 जुलाई तक का समय दिया है।

इसी तरह झील पर बंशियों के नीचे सुरक्षा के उपाय लगाने के लिए अधीक्षण अभियंता की जिम्मेदारी तय करते हुए 10 अगस्त तक पूरा करने का समय दिया है। इसी तरह पिछोला झील दीन दयाल उपाध्याय पार्क को निगम को दिये जाने और फतहसागर झील में स्थित नेहरू पार्क को न्यास द्वारा लिए जाने के प्रस्ताव पर चर्चा करने के लिए अधीक्षण अभियंता को 10 अगस्त तक का समय दिया है। इसी तरह नेहरू पार्क पर स्थित केफेटेरिया के न्यायिक वाद को लेकर कानूनी उपायों के लिए विधि विभाग को 10 अगस्त का समय दिया गया है। पूरी बैठक के दौरान कलेक्टर पूरी तरह से एक्शन में दिखे और अधिकारियों से लगातार सवाल-जवाब करते रहे। इस दौरान यूआईटी सचिव अरूण कुमार हासिजा के साथ-साथ यूआईटी क अधिकारी उपस्थित थे।


Share