सीएम के सलाहकार लोढ़ा ने वेल में आकर लगाए नारे, स्पीकर ने मार्शल बुलाकर सदन से बाहर निकलवाया

CM's advisor Lodha came to the well and raised slogans, the speaker called the marshal and got him out of the house
Share

जयपुर (कार्यालय संवाददाता)। नारेबाजी से नाराज स्पीकर सीपी जोशी ने मार्शल बुलवाकर सयंम लोढ़ा को सदन से बाहर निकलवा दिया। अचानक हुए इस घटनाक्रम की सियासी गलियरों में भारी चर्चा है। विधानसभा में शून्यकाल के दौरान मुख्यमंत्री अशोक गहलोत के सलाहकार संयम लोढ़ा ने सिरोही के बरलूट में एक निर्दोष व्यक्ति को हत्या के आरोप में जेल में रखने के मामले में वेल में आकर पुलिस के खिलाफ नारेबाजी की। नारेबाजी से नाराज स्पीकर सीपी जोशी ने मार्शल बुलवाकर संयम लोढ़ा को सदन से बाहर निकलवा दिया। अचानक हुए इस घटनाक्रम की सियासी गलियारों में भारी चर्चा है। सदन में ऐसा पहली बार हुआ है, जब सरकार के सलाहकार विधायक को इस तरह मार्शल बुलाकर बाहर निकाला हो।

बरलूट मामले में सात दिन में जांच करवाने की घोषणा

संयम लोढ़ा ने सिरोही के बरलूट थाने में लिखमाराम देवासी नाम के निर्दोष व्यक्ति को हत्या के मामले में जेल भेजने का ध्यानाकर्षण से मामला उठाया। इसके जवाब में संसदीय कार्यमंत्री शांति धारीवाल ने कहा कि इस पूरे मामले में जांच के बाद जो भी पुलिसकर्मी दोषी पाया जाएगा, उसके खिलाफ कार्रवाई होगी। कार्रवाई से पहले जांच जरूरी है। सात दिन में जांच हो जाएगी। एक निर्दोष के हक में यह अच्छा मामला उठाया है।

लोढ़ा ने मंत्री के जवाब के बीच ही सवाल उठाए : मंत्री के जवाब के बीच ही संयम लोढ़ा ने कहा कि 2018 में कांग्रेस पार्टी की तरफ से बरलूट थाने का हमने घेराव किया था। सबको पता है कि वह व्यक्ति निर्दोष है, उसे झूठा फंसाया गया है। इस पर स्पीकर सीपी जोशी ने कहा कि हिस्ट्री से कोई मतलब नहीं है, आप मंत्री का जवाब नहीं सुनना चाहते। सात दिन में जांच हो जाएगी, अब चर्चा खत्म हो गई। इसके बाद भी संयम लोढ़ा बोलते रहे।

स्पीकर ने कहा- मार्शल इसे बाहर फेंकिए : संयम लोढ़ा ने स्पीकर के टोकने के बाद भी बोलना जारी रखा। स्पीकर ने बैठने को कहा तो पुलिस के खिलाफ नारे लगाने लगे। इस पर स्पीकर ने कहा कि मैं सदन से बाहर फिंकवा दूंगा। आपके हिसाब से सदन नहीं चलेगा। इसके बाद भी नारेबाजी जारी रही तो स्पीकर ने मार्शल से कहा कि इसे बाहर फेंकिए। इस तरह स्पीकर ने सरकार के सलाहकार को मार्शल से बाहर निकलवा दिया। जोशी ने कहा कि इसकी बिल्कुल इजाजत नहीं दी जा सकती। बाकी विधायकों से भी आग्रह है कि वे इस तरह का आचरण नहीं करें, जिससे मुझे कोई अप्रिय फैसला करना पड़े।

जोशी के समर्थक रहे हैं लोढ़ा : सीएम अशोक गहलोत के सलाहकार निर्दलीय विधायक संयम लोढ़ा को स्पीकर ने जिस तरह सदन से मार्शल के जरिए बाहर निकलवाया, उसे सियासी हलकों में अप्रत्याशित घटना माना जा रहा है। संयम लोढ़ा 2003 से 2008 के बीच कांग्रेस के विपक्ष में रहने के दौरान सीपी जोशी की टीम के फायरब्रांड मेंबर थे। लोढ़ा सीपी जोशी की टीम के सबसे आक्रमक विधायक थे और उस दौर में तत्कालीन सीएम वसुंधरा राजे को कई मुद्दों पर सदन के भीतर घेरने में लोढ़ा आगे रहते थे। बाद में दोनों के बीच वह केमिस्ट्री नहीं रही।


Share