कोरोना से अनाथ हुए बच्चों को सौगात, पीएम केयर फंड से मिलेगा लोन

कोरोना से अनाथ हुए बच्चों को सौगात, पीएम केयर फंड से मिलेगा लोन
Share

नई दिल्ली (एजेंसी)। मोदी सरकार को सोमवार को  8 साल पूरे हो गए । 2019 में सत्ता में लौटने के बाद से, इसने अपने एजेंडे में कई प्रमुख कार्य पूरे किए। लेकिन ऐसा प्रतीत होता है कि भारत ने सबसे खराब महामारी को भी अब पीछे छोड़ दिया है, लेकिन सरकार के बचे हुए दूसरे कार्यकाल के लिए देश और विदेश में कई चुनौतियां बाकी हैं। सरकार के 8 साल पूरे होने के उपलक्ष्य पर प्र.म. मोदी कोरोना के कारण अनाथ हुए बच्चों को प्र.म. केयर फॉर चिल्ड्रेन योजना के तहत स्कॉलरशिप राशि ट्रांसफर की। इसके साथ ही प्र.म. मोदी ने ऐलान किया कि अगर किसी बच्चे को उच्च शिक्षा के लिए एजुकेशन लोन चाहिए होगा तो प्र.म. केयर फंड उसमे भी मदद करेगा। प्र.म. मोदी ने कहा, अगर किसी को प्रॉफेशनल कोर्स के लिए या हायर एजुकेशन के लिए एजुकेशन लोन चाहिए होगा, तो पीएम केयर्स उसमें भी मदद करेगा। रोजमर्रा की दूसरी जरूरतों के लिए अन्य योजनाओं के माध्यम से उनके लिए 4 हजार रू. हर महीने की व्यवस्था भी की गई है। प्र.म. मोदी ने आगे कहा, मैं बच्चों से प्र.म. के तौर पर नहीं, आपके परिवार के सदस्य के तौर पर बात कर रहा हूं। आज बच्चों के बीच आकर मुझे बहुत राहत मिली है। पीएम केयर्स फॉर चिल्ड्रेन’ के जरिए बच्चों को आयुष्मान हेल्थ कार्ड भी दिया जा रहा है, इससे 5 लाख रूपये तक के इलाज की भी मुफ्त सुविधा मिलेगी।

बच्चे पढ़ाई करेंगे तो आगे और भी पैसों की जरूरत होगी। उन्हें 18 साल से 23 साल तक स्टाइपेंड मिलेगा। 23 साल के होंगे तो 10 लाख रूपए और मिलेंगे। कोई बीमारी कभी आ गई तो इलाज के लिए पैसे चाहिए होंगे। उनके गार्जियन को उसके लिए भी परेशान होने की जरूरत नहीं है। आपको आयुष्मान कार्ड दिया जा रहा है। इससे 5 लाख तक के इलाज का इलाज मुफ्त मिलेगा।

बच्चों के लिए हेल्पलाइन भी शुरू की गई : प्र.म. मोदी ने कहा कि सरकार ने एक कोशिश करने का प्रयास किया है। इसके लिए एक विशेष संवाद सेवा शुरू की है। हेल्पलाइन पर बच्चे मनोवैज्ञानिक विषयों पर सलाह ले सकते हैं। उनसे चर्चा कर सकते हैं। कोरोना महामारी की मार पूरी दुनिया ने सही है। आपने जिस साहस और हौसले से इस संकट का सामना किया है। उस हौसले के लिए मैं आपको सलाम करता हूं।


Share