बच्चे कोविड संक्रमण से सुरक्षित नहीं लेकिन प्रभाव न्यूनतम – तीसरी लहर की चिंताओं पर सरकार बोली-

भारत में Triple Mutation Covid Variant, कोरोना की लड़ाई में नयी चिंता
Share

नई दिल्ली (एजेंसी)। देश में कोरोना वायरस की रफ्तार जरूर धीमी हो गई है लेकिन कुछ राज्यों में मौत का सिलसिला अभी भी जारी है। देश में ऐसे छह राज्य है जहां पर कोरोना वायरस से सबसे ज्यादा मौतें हो रही हैं। इसमें पहले नंबर पर महाराष्ट्र है जहां मौत का सिलसिला थम नहीं रहा है। इसके साथ-साथ कर्नाटक, तमिलनाडु, यूपी, पंजाब और दिल्ली शामिल है। शनिवार को स्वास्थ्य मंत्रालय के संयुक्त सचिव लव अग्रवाल ने बताया कि देश के सात राज्य ऐसे हैं जहां पर 10 हजार से अधिक नए मामले सामने आ रहे हैं। वहीं, छह ऐसे राज्य हैं जहां कोरोना वायरस के नए मामलों की संख्या पांच से दस हजार के बीच में है।  उन्होंने कहा कि 18 राज्य ऐसे हैं जहां पॉजिटिविटी 15 फीसदी से अधिक है, जिनमें लगभग सभी राज्यों में पॉजिटिविटी रेट में लगातार कमी दर्ज की जा रही है। 5-15 फीसदी पजिटिविटी वाले 14 राज्य हैं। 4 राज्यों में 5 प्रतिशत से कम पॉजिटिविटी है।

कम या नहीं होंगे बच्चों में कोरोना के लक्षण

कोरोना की संभावित तीसरी लहर की चिंताओं के बीच केंद्र सरकार ने शनिवार को कहा कि बच्चे कोरोना वायरस के संक्रमण से सुरक्षित नहीं हैं, लेकिन उन पर इसका प्रभाव न्यूनतम है। नीति आयोग के सदस्य वीके पॉल ने कहा कि यदि बच्चे कोविड से प्रभावित होते हैं, तो या तो उनमें कोई लक्षण नहीं होंगे या कम से कम लक्षण होंगे। उन्हें आम तौर पर अस्पताल में भर्ती होने की आवश्यकता नहीं होती है।


Share