मुख्यमंत्री रूपाणी का अचानक इस्तीफा – गुजरात में कौन बनेगा अगला सीएम? विधायक दल की बैठक आज

मुख्यमंत्री रूपाणी का अचानक इस्तीफा - गुजरात में कौन बनेगा अगला सीएम? विधायक दल की बैठक आज
Share

गांधीनगर (एजेंसी)। गुजरात के मुख्यमंत्री विजय रूपाणी ने चुनाव से एक साल पहले अचानक पद से इस्तीफा दे दिया।रूपाणी के इस्तीफे के बाद राज्य में सीएम की रेस तेज हो गई है। रूपाणी ने अचानक आज राज्यपाल आचार्य देवब्रत से मिलकर उनको अपना इस्तीफा सौंप दिया। रूपाणी के साथ नितिन पटेल और भूपेंद्र यादव भी थे। रूपाणी के इस्तीफे के बाद सीएम की रेस में नितिन भाई पटेल, केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री मनसुख मांडविया, सीआर पाटिल, प्रफुल पटेल के नाम सामने आ रहे हैं।

नया नेता चुनने के लिए भाजपा ने गांधीनगर में रविवार को विधायक दल की बैठक बुलाई है। इस मीटिंग से पहले गृह मंत्री अमित शाह अहमदाबाद पहुंचे।

बताया जा रहा है कि नितिन भाई पटेल का नाम सीएम के रेस में सबसे आगे है। चूंकि पटेल पाटीदार समुदाय से आते हैं और राज्य में इस समुदाय का काफी दबदबा है तो उन्हें मौका मिल सकता है। सीआर पाटिल राज्य के भाजपा चीफ हैं जबकि पुरूषोत्तम रूपानी राज्य के दिग्गज नेता हैं। रूपाला और मांडविया दोनों केंद्रीय मंत्रिमंडल में हैं। सूत्रों के अनुसार, हाल ही में केंद्रीय मंत्रिमंडल का विस्तार हुआ है ऐसे में इन दोनों के नाम के इतर भी कई और नाम सामने आ सकते हैं।

केंद्रीय पशुपालन मंत्री परसोत्तम रूपाला ने कहा कि आगामी मुख्यमंत्री को लेकर रविवार तक स्थिति स्पष्ट हो जाएगी। इस्तीफे के बाद रूपाणी ने कहा कि गुजरात का आगामी विधानसभा चुनाव नए मुख्यमंत्री के नेतृत्व में लड़ा जाएगा।

रूपाणी बोले- मैंने अपनी जिम्मेदारी पूरी की

मीडिया से बात करते हुए उन्होंने कहा कि पार्टी में समय के साथ दायित्व बदलते रहते हैं। भाजपा में यह स्वाभाविक प्रक्रिया है। मुझे 5 साल के लिए मुख्यमंत्री की जिम्मेदारी मिली, जो मैंने पूरी की है। अब नई लीडरशिप में गुजरात का विकास जारी रहना चाहिए। माना जा रहा है कि इस बदलाव के पीछे अगले साल होने वाला विधानसभा चुनाव है। मुख्यमंत्री बदलने से जनता की नाराजगी को कम किया जा सकेगा और कुछ उम्मीदें जागेंगी। इससे अगला चुनाव जीतने में मदद मिलेगी।

2017 में दूसरी बार ली थी मुख्यमंत्री पद की शपथ

जानकारी के लिए बता दें कि विजय रूपाणी ने 26 दिसंबर 2017 को दूसरी बार गुजरात के मुख्यमंत्री पद की शपथ ली थी। भाजपा ने गुजरात में 182 सीटों में से 99 सीटें जीतकर बहुमत हासिल किया था। विधानमंडल दल की बैठक में रूपाणी को विधायक दल का नेता और नितिन पटेल को उपनेता चुना गया था।


Share