रामपुरा चौराहे से तीन जगहों पर बनाई चौकियां, बिना पास किसी की एंट्री नहीं

Security arrangements tightened on the second day of Chintan Shivir
Share

चिंतन शिविर के दूसरे दिन सुरक्षा व्यवस्था और कड़ी

उदयपुर. नगर संवाददाता & लेकसिटी में चल रहे कांग्रेस के चिंतन शिविर में दूसरे दिन व्यवस्थाओं में भारी परिवर्तन किया गया। इस शिविर में शनिवार को सुरक्षा के चाक-चौबंद व्यवस्था थी और हर आने-जाने वाले से पूछताछ कर ही उसे आगे जाने दिया जा रहा था। शाम को सत्र समाप्त होने के बाद मुख्यमंत्री अशोक गहलोत, प्रदेशाध्यक्ष   गोविन्द सिंह डोटासरा और राष्ट्रीय प्रवक्ता रणदीप सुरजेवाला पत्रकारों से मिलने आए और जानकारी ली। चिंतन शिविर के दूसरे सुरक्षा व्यवस्था में खासा परिवर्तन किया गया। शनिवार को रामपुरा चौराहे से ही लोगों को रोकने का काम शुरू कर दिया और बिना पास वाले को आगे नहीं जाने दिया जा रहा था। रामपुरा से लेकर ताज अरावली तक पुलिस की तीन चौकियां बनाई थी और केवल पास वालों को ही जाने दिया जा रहा था। इससे इस क्षेत्र में रहने वाले ग्रामीणो को खासी परेशानियों का सामना करना पड़ा था। क्षेत्रिय नागरिकों से कड़ी पूछताछ के बाद और पूरी तरह से आश्वस्त होने के बाद ही जाने दिया जा रहा था।

सीएम ने पी पत्रकारों के साथ चाय

शनिवार को दूसरे दिन शाम को मुख्यमंत्री अशोक गहलोत, प्रदेशाध्यक्ष गोविन्द सिंह डोटासरा और राष्ट्रीय प्रवक्ता रणदीप सुरजेवाला ने पत्रकारों के साथ चाय पी। इस दौरान सुरजेवाला ने कहा कि पहले तो यह आंकड़ा था कि शिविर के कवरेज के लिए 250 पत्रकार ही आएंगे और वैसी ही व्यवस्था की थी, लेकिन पत्रकारों की संख्या 350 से अधिक होने के कारण व्यवस्था र्मे परिवर्तन किया गया है।

एसपी-कलेक्टर आए जायजा लेने

इस शिविर में शनिवार दोपहर को जिला कलेक्टर ताराचंद मीणा, एसपी मनोज चौधरी स्वयं आए थे और मीडिया सेंटर में जाकर व्यवस्थाओं का जायजा लिया। करीब 15 से 20 मिनट तक मीडिया सेंटर में व्यवस्थाएं देखी।

दो नेताओं की तबीयत खराब होने पर लगाई चिकित्सा टीम

शिविर में आए दो नेताओं की तबीयत खराब हो गई, जिसमें एक का जी घबराया और सीने में दर्द हुआ तो उसे चिकित्सालय भेजा गया। वहीं एक अन्य नेता के कंधे में दर्द होने पर तत्काल मौके पर मेडिकल टीम बुलाई। चिकित्सा विभाग के संयुक्त निदेशक जेड ए काजी और मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डॉ. दिनेश खराड़ी के नेतृत्व में दो मेडिकल टीम यहां पर पहुँची, जो शिविर समाप्त होने तक यहीं पर रहेगी।


Share