चारधाम यात्रा : 3 जून तक बुकिंग फुल, तीर्थयात्रियों के लिए रजिस्ट्रेशन  पर रोक

Pilgrims should register Chardham from the official website: Secretary Tourism
Share

देहरादून (एजेंसी)। केदानाथ-बदरीनाथ सहित चारधाम दर्शन के लिए अभी तक 3 जून तक की बुकिंग फुल हो चुकी है। किसी भी धाम में 3 जून से पहले के लिए अब पंजीकरण नहीं कराया जा सकेगा। आपात स्थिति में पुलिस की ओर से कराई जा रहे सीमित पंजीकरण को भी पूरी तरह बंद कर दिया गया है। यात्रा के इच्छुक लोग पर्यटन विभाग के पोर्टल पर आगे की बुकिंग के लिए स्लॉट चैक कर सकते हैं।

ग्रीन सिग्नल दिखने के बाद ही लोग उस तिथि के लिए पंजीकरण करा सकते हैं। फर्जी पंजीकरण के सहारे चारधाम यात्रा करने और कराने वालों के खिलाफ सख्त कार्रवाई करेगी। सरकार ने इस मामले में पुलिस को सख्त कार्रवाई के निर्देश दे दिए हैं। इसके साथ ही देश भर के लोगों से अपील की गई है कि चारधाम के लिए केवल पर्यटन विभाग के पोर्टल और एप के जरिए ही पंजीकरण कराएं। इसके अलावा किसी भी दूसरी वेबसाइट से पंजीकरण नहीं कराया जा सकता। पर्यटन सचिव दिलीप जावलकर ने शनिवार को पर्यटन निदेशालय में पत्रकारों से बातचीत में बताया कि चारधाम यात्रा के दौरान कुछ यात्रियों के फर्जी पंजीकरण कराकर आने की सूचना है। उन्होंने कहा कि पुलिस को यात्रा पर आने वाले लोगों के पंजीकरण की जांच बढ़ाने के साथ ही ऐसा करने वालों के खिलाफ कड़ी कार्रवाई करने को कहा गया है।

उन्होंने कहा कि फर्जी पंजीकरण के अभी तक 80 के करीब मामले पुलिस के सामने आए हैं और ऐसे लोगों को आगे बढऩे से रोकने के साथ ही पूछताछ भी कराई जा रही है। कहा कि बिना पंजीरकण किसी भी यात्री को यात्रा करने की अनुमति नहीं दी जाएगी।

अक्टूबर तक प्लान  करें चारधाम यात्रा

पर्यटन सचिव ने कहा कि आमतौर पर लोग मानसून से पहले ही चारधाम यात्रा प्लान करते हैं। लेकिन चारधाम अक्टूबर तक चलती है। ऐसे में लोगों को सलाह दी जा रही है कि वे अभी यात्रा प्लान करने की बजाए जून, जुलाई, अगस्त, सितम्बर और अक्टूबर के महीनों तक यात्रा प्लान कर सकते हैं। उन्होंने कहा कि अभी तक शुरू के 45 दिनों में ही 70 प्रतिशत यात्री दर्शन कर लेते हैं। लेकिन हमारा प्रयास है कि पूरे यात्रा काल में लोग चारधाम दर्शन के लिए आए।

22 लाख लोग करा   चुके हैं पंजीकरण

राज्य में चारधाम यात्रा के लिए अभी तक कुल 22 लाख 50 हजार से अधिक पंजीकरण हो चुके हैं। जबकि यात्रा शुरू होने के बाद 26 दिनों में अभी तक कुल 11 लाख 45 हजार के करीब यात्री दर्शन कर चुके हैं। उन्होंने कहा कि जिन लोगों ने होटल और हेलीकॉप्टर की बुकिंग करा ली है लेकिन चारधाम के लिए पंजीकरण नहीं हुआ है ऐसे लोगों को भी चारधाम दर्शन की इजाजत नहीं होगी। उन्होंने बताया कि चारधाम में हर दिन औसतन पचास हजार यात्री दर्शन कर रहे हैं।


Share