चारधाम रेल प्रोजेक्ट ने पकड़ी रफ्तार, रेलवे ने तस्वीरों में दिखाया ताजा हाल

Chardham Rail Project caught pace, Railways showed the latest condition in pictures
Share

देहरादून (एजेंसी)। भारतीय रेल उत्तराखंड में चार धाम रेलवे परियोजना में तेजी ला रहा है। उत्तराखंड में रेलवे की दो प्रमुख परियोजनाओं में चार धाम यात्रा के चार महत्वपूर्ण स्थानों को ऋषिकेश और कर्णप्रयाग शहर से जोडऩे के लिए ब्रॉड गेज लाइन को जोडऩा शामिल है। रेल मंत्रालय ने इस बाबत जानकारी साझा करते हुए प्रोजेक्ट से जुड़ी कई तस्वीरें शेयर कीं।

रेल मंत्रालय ने ट्वीट में लिखा, ऋषिकेश-कर्णप्रयाग के बीच चार धाम रेलवे परियोजना ने गति पकड़ी। इस महत्वपूर्ण परियोजना के लिए अलकनंदा नदी पर आने वाले पियर्स की झलक देखें, यह परियोजना का सबसे लंबा (489 मीटर) पुल है, जो श्रीनगर शहर को प्रस्तावित रेलवे स्टेशन से जोड़ेगा।

रेल राज्यमंत्री दर्शना जरदोश ने हाल ही में इस रेल परियोजनाओं का जायजा लेने के लिए उत्तराखंड का दौरा किया था। उन्होंने ऋषिकेश-कर्णप्रयाग परियोजना स्थल का भी दौरा किया था और सुरंग के काम तथा ब्रॉड गेज लाइन की समीक्षा की थी। अपनी इस यात्रा के दौरान, जरदोश ने उत्तराखंड में रेल नेटवर्क के सर्वांगीण विकास का वादा किया। उन्होंने कहा कि दोनों रेल परियोजनाओं से राज्य में आने वाले हजारों तीर्थयात्रियों और पर्यटकों के समय और यात्रा खर्च दोनों की बचत होगी।

इस परियोजना के तहत सभी चार धाम- केदारनाथ, बद्रीनाथ, गंगोत्री और यमुनोत्री को रेल नेटवर्क से जोड़ा जाएगा। वहीं ऋषिकेश और कर्णप्रयाग के बीच नई ब्रॉड गेज रेल लाइन का प्रोजेक्ट भी उत्तराखंड के लिए काफी अहम बताया जा रहा है। यह रेल लिंक राज्य के कई तीर्थयात्रियों के लिए मददगार होगा, क्योंकि इससे समय और यात्रा खर्च दोनों की बचत होगी और इससे क्षेत्र में औद्योगिक विकास को भी बढ़ावा मिलेगा।

यह रेल लाइन देवप्रयाग, श्रीनगर, रूद्रप्रयाग, गौचर और कर्णप्रयाग शहरों को जोड़ेगी, जो पांच जिलों यानी देहरादून, टिहरी, पौड़ी, रूद्रप्रयाग और चमोली को जोडऩे वाली एक कड़ी होगी।


Share