CBSE CISCE कक्षा 12 वीं के परिणाम 2021 लाइव अपडेट: सुप्रीम कोर्ट की सुनवाई जल्द शुरू होगी

छात्रों के बारे में सोचे सीबीएसई: सुप्रीम कोर्ट
Share

CBSE CISCE कक्षा 12 वीं के परिणाम 2021 लाइव अपडेट: सुप्रीम कोर्ट की सुनवाई जल्द शुरू होगी: केंद्रीय माध्यमिक शिक्षा बोर्ड (सीबीएसई) और काउंसिल फॉर द इंडियन स्कूल सर्टिफिकेट एग्जामिनेशन (सीआईएससीई) कक्षा 12 के मूल्यांकन मानदंड या अंतिम रणनीति प्रस्तुत करेंगे, जिसका उपयोग कक्षा 12 के छात्रों का आकलन करने के लिए किया जाएगा, आज सुप्रीम कोर्ट में।

शीर्ष अदालत ने कक्षा 12 की बोर्ड परीक्षाओं के संबंध में एक याचिका पर सुनवाई करते हुए बोर्ड को दो सप्ताह के भीतर रणनीति तैयार करने का निर्देश दिया था। सीबीएसई ने मूल्यांकन मानदंडों को अंतिम रूप देने के लिए 12 सदस्यीय समिति का गठन किया था और आज अदालत के समक्ष अंतिम मूल्यांकन पेश करेगी।

सीबीएसई के परीक्षा नियंत्रक संयम भारद्वाज ने कहा, ‘हमने मूल्यांकन मानदंडों पर काम किया है और इसे 17 जून को अदालत में पेश करेंगे।

इस बीच, सीबीएसई ने स्कूलों को ऑनलाइन मोड में व्यावहारिक परीक्षा पूरी करने की अनुमति दी है। जो छात्र कोविड -19 की दूसरी लहर के कारण व्यावहारिक परीक्षा में शामिल नहीं हो पाए थे, उनके पास घर से ये परीक्षा देने का अवसर होगा। स्कूलों को लंबित परीक्षण आयोजित करने और 28 जून तक अंक जमा करने होंगे। बाहरी परीक्षक आंतरिक परीक्षक के परामर्श से ऑनलाइन मौखिक परीक्षा की तारीख तय करेंगे।

1 जून को प्रधान मंत्री नरेंद्र मोदी की उच्च स्तरीय बैठक की अध्यक्षता के बाद, सीबीएसई ने कोविड -19 महामारी की दूसरी लहर के बीच कक्षा 12 की बोर्ड परीक्षा को रद्द कर दिया।

सीबीएसई ने गैर-छात्रों के लिए बाद में परीक्षा में बैठने का विकल्प प्रस्तावित किया है

यदि छात्र वैकल्पिक मूल्यांकन मानदंड के माध्यम से आवश्यक अंक प्राप्त नहीं करते हैं और योग्यता मानदंड को पूरा करने में असमर्थ हैं, तो उन्हें ‘आवश्यक पुनरावृत्ति’ या कम्पार्टमेंट श्रेणी में रखा जाएगा। जब भी स्थिति अनुकूल होगी सीबीएसई आचरण करेगा।

31 जुलाई तक जारी हो सकता है रिजल्ट

अटॉर्नी जनरल केके वेणुगोपाल ने पीठ को बताया कि परिणाम की घोषणा 31 जुलाई, 2021 तक की जाएगी।

परिणाम तैयार करने के लिए उपयोग किए जाने वाले कक्षा 10, 11 और 12 के अंक

सीबीएसई ने सुप्रीम कोर्ट को बताया कि बारहवीं कक्षा के परिणाम कक्षा 10 (30% वेटेज), कक्षा 11 (30% वेटेज) और कक्षा 12 (40% वेटेज) में प्रदर्शन के आधार पर तय किए जाएंगे।

सीबीएसई ने गैर-छात्रों के लिए बाद में परीक्षा में बैठने का विकल्प प्रस्तावित किया है

यदि छात्र वैकल्पिक मूल्यांकन मानदंड के माध्यम से आवश्यक अंक प्राप्त नहीं करते हैं और योग्यता मानदंड को पूरा करने में असमर्थ हैं, तो उन्हें ‘आवश्यक पुनरावृत्ति’ या कम्पार्टमेंट श्रेणी में रखा जाएगा। जब भी स्थिति अनुकूल होगी सीबीएसई आचरण करेगा।


Share